तबलीगी जमात ने भारत को संकट में धकेला

धार्मिक आयोजन से मचा हाहाकार

KKN न्यूज ब्यूरो। दिल्ली का निजामुद्दीन मरकज और तबलीगी जमात इन दिनो सुर्खियों में है। जमात के एक धार्मिक कार्यक्रम में शामिल कई लोगों में खतरनाक कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि होने के बाद देश में हड़कंप का माहौल है। माना जा रहा है कि तबलीगी जमात के इस धार्मिक आयोजन में करीब दो हजार से अधिक लोग शामिल हुए थे, जो न सिर्फ देश के अलग-अलग राज्य के थे, बल्कि पाकिस्तान, बांग्लादेश समेत विदेशों के भी थे।

पुलिस को करनी पड़ी मशक्कत

मरकज से लोगों को निकालने के लिए पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी। करीब 36 घंटे के ऑपरेशन के बाद 2,361 लोगों को वहां से निकाला गया। मरकज का मामला सामने आने के बाद देश में मरीजें की संख्या में अचानक इजाफा हो गया है। इस बीच मरकज़ से निकाले गए 2,361 लोगों में से 617 अस्पताल में भर्ती हैं और बाकियों को क्वारंटाइन रखा गया है। अब तक निजामुद्दीन मरकज से निकाले गए लोगों में कोरोना वायरस पॉजिटिव लोगों की संख्या 93 हो गई है।

तबलीग के समर्थन में पीएफआई

मरकज में आए तेलंगाना के छह लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है। बता दें कि दक्षिण दिल्ली के निजामुद्दीन पश्चिम इलाके में एक से 15 मार्च के बीच तबलीग-ए-जमात के इज्तिमे में दो हजार से ज्यादा लोगों ने शिरकत की थी। इनमें पाकिस्तान, इंडोनेशिया , श्रीलंका, अफगानिस्तान, मलेशिया, सऊदी अरब, इंग्लैंड, चीन और मलेशिया के लोग भी शामिल थे। अब मरकज अपनी बचाव में उतर आया है। तबलीग के समर्थन में पीएफआई ने खुलकर मोर्चा खोल दिया है।

यूपी से 157 लोग शामिल

दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात में शामिल हुए यूपी के 157 लोग शामिल हुए थे, जिनमें से 95 फीसदी लोगों की पहचान हो गई है। प्रशासन अब इन्हें क्वारंटाइन कर दिया है।

हरियाणा के 125 लोग

हरियाणा के लगभग 125 लोग दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात की एक धार्मिक सभा में शामिल हुए थे और उन सभी को अब क्वारंटाइन कर दिया गया है।

पंजाब से 9 लोग

पंजाब सरकार ने उन नौ लोगों की पहचान की है जो इस बैठक में शामिल हुए थे। ये सभी अभी दिल्ली में हैं। पंजाब से इस बैठक में भाग लेने वालों में लुधियाना के चार, संगरूर के दो और बरनाला, गुरदासपुर और पठानकोट के एक-एक व्यक्ति शामिल थे।

मध्य प्रदेश के 107

दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल हुए मध्यप्रदेश के सभी 107 लोगों की पहचान कर ली गई है और इन लोगों को पृथक रखा गया है। इन पर कड़ी नजर रखी जा रही है।

कर्नाटक से 300 लोग शामिल

कर्नाटक के 300 लोग निजामुद्दीन में तबलीगी जमात में शामिल हुए थे। जिनमें से 40 लोगों की पहचान कर उन्हें पृथक कर दिया गया है। इनमें से 12 को कोविड-19 नहीं होने की पुष्टि हो चुकी है। धार्मिक समारोह में शामिल हुए 62 मलेशियाई और इंडोनेशियाई नागरिकों के कर्नाटक आने की जानकारी दी गई है। इनमें से 12 की पहचान कर उन्हें पृथक कर दिया गया है।

पुडुचेरी के दो लोग

दिल्ली के तबलीगी जमात में इलाके में शामिल हुए पुडुचेरी के दो निवासी बुधवार को कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए। परिवार एवं कल्याण विभाग के निदेशक मोहन कुमार ने बताया कि दिल्ली से लौटे ये दो लोग यहां सरकारी अस्पताल में भर्ती थे। सूत्र ने बताया कि दोनों यहीं नजदीक के अरियांकुप्पम गांव के निवासी हैं।

बिहार में 30 की पहचान

तबलीगी जमात में शामिल होने वाले लोगों में बिहार के भी 30 लोगों की पहचान कर ली गई है। तबलीगी जमात में शामिल होने वालों में पटना से 17 और बक्सर से 13 लोगों की पहचान कर ली गई है और लोगों की पहचान करने की कार्रवाई की जा रही है। कहा जा रहा है कि बिहार से 86 लोग दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात में शामिल होने के बाद वापस लौटे हैं।

उत्तराखंड के 26 थे

दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात में उत्तराखंड से 26 लोग शामिल हुए थे। इस धार्मिक आयोजन में सरकार की ओर से अधिकारिक पुष्टी 26 लोगों के शामिल होने की हुई है। सूत्रों के अनुसार सबसे अधिक लोग हरिद्वार जिले के हैं। इसके अलावा उत्तरकाशी व देहरादून और शेष अन्य जिलों से हैं।

आंध्र में मामलों की संख्या में इजाफा

आंध्र प्रदेश में कोरोना वायरस के 43 नए मामले सामने आये है। जिससे राज्य में कुल मामलों की संख्या 87 हो गई है। माना जा रहा है कि इन मामलों में ज्यादातर तबलीगी जमात के एक कार्यक्रम से संबंधित है। पश्चिम गोदावरी जिले में इस वायरस के संक्रमण के 13 मामले दर्ज किये गए जबकि कडप्पा जिले में भी 15 मामले सामने आए हैं। हालांकि, अभी तक स्पष्ट नहीं हो पाया है कि आंध्र से कुल कितने लोग मरकज में गए थे।

हिमाचल से 17 लोग

हिमाचल राज्य के 17 लोग दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में तब्लीगी जमात की मंडली में शामिल हुए थे और वे दिल्ली में 14 दिनों की निगरानी में हैं। उन्होंने कहा कि अभी तक उनमें कोविड-19 के कोई लक्षण नहीं हैं। बताया जा रहा है कि इस धार्मिक सभा में शामिल होने वालों में से अधिकांश जम्मू और कश्मीर से सटे चंबा जिले के थे।

गुजरात के 76 लोग

दिल्ली के निजामुद्दीन में हुए धार्मिक आयोजन में गुजरात के करीब 76 लोग शामिल हुए थे। उनकी पहचान करने तथा उनका पता लगाने की प्रक्रिया शुरू हो चुकीं है। यह धार्मिक कार्यक्रम देश में कोरोना वायरस फैलाने का एक प्रमुख स्रोत बन गया है। अधिकारियों ने बताया कि अकेले सूरत से इस महीने की शुरुआत में तबलीगी जमात के मुख्यालय मरकज निजामुद्दीन में हुए आयोजन में 76 लोग शामिल हुए थे।

छत्तीसगढ़ के 101 की पहचान

दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के धार्मिक आयोजन में शामिल छत्तीसगढ़ के 101 लोगों की पहचान की गई है। दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित मरकज में तबलीगी जमात के धार्मिक आयोजन में राज्य के 101 लोगों के शामिल होने की जानकारी मिली है।

तेलंगाना से 1200 लोग

तेंलगाना से करीब 1200 लोग दिल्ली के मरकज में हुए कार्यक्रम में शामिल हुए थे। इनमें से कुछ कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं और छह की मौत भी हो चुकी है। पिछले तीन दिनों में कोरोना से वही लोग संक्रमित पाए गए हैं, जो मरकज आए थे। यह जानकारी तेलंगाना के स्वास्थ्य मंत्री एटला राजेंदर ने दी है।

राजस्थान में 37 की पहचान

दिल्ली के तबलीगी जमात कार्यक्रम में शामिल राजस्थान के 37 लोगों की पहचान कर ली गई है। इन्हें झूंझनू में क्वारंटाइन किया गया है। सरकार इनके सैंपल को जांच के लिए भेजेगी और इसके बाद कार्रवाई करेगी। यानी करीब- करीब पूरे देश में मरकज ने कोहराम मचा दिया है। ताज्जुब की बात तो ये कि उन्हें इसका कोई मलाल भी नहीं है।

KKN लाइव टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है, खबरों की खबर के लिए यहां क्लिक करके आप हमारे चैनल को सब्सक्राइब कर सकते हैं।

हमारे एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। हमारे सभी खबरों का अपडेट अपने फ़ेसबुक फ़ीड पर पाने  के लिए आप हमारे फ़ेसबुक पेज को लाइक कर सकते हैं, आप हमे  ट्विटर और इंस्टाग्राम पर भी फॉलो कर सकते हैं। वीडियो का नोटिफिकेशन आपको तुरंत मिल जाए इसके लिये आप यहां क्लिक करके हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *