अधिकारी को घूस नहीं, भीख दो

मीनापुर में शुरू हुआ अनोखा आंदोलन

KKN न्यूज ब्यूरो। बिहार के मुजफ्फरपुर जिला में भ्रष्टाचार के खिलाफ अनोखा आंदोलन शुरू हो गया है। सत्तारुढ़ जदयू से जुड़े कुछ नेताओं ने मीनापुर अंचल कार्यालय में अवैध वसूली से तंग आकर भिक्षाटन अभियान शुरू कर दिया है। ‘भ्रष्टाचारी अंचलाधिकारी को घूस नहीं भीख दो…’ अभियान का नेतृत्व कर रहें जदयू किसान प्रकोष्ठ के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष मनोज कुमार ने बताया कि मीनापुर अंचल कार्यालय में बिना चढ़ावा दिए जरुरतमंदो का कोई काम नहीं होता है। पता चला है कि सरकार के द्वारा दी जा रही वेतन से मीनापुर के अंचलाधिकारी का पेट नहीं भरता है। नतीजा, उन्होंने अंचलाधिकारी के लिए भीख मांग कर रुपये जमा करके अधिकारी को देने का निर्णय किया है। ताकि, अधिकारी आमलोगो से वसूली नहीं करें।

दाखिल-खारिज में वसूली का आरोप

अभियान के पहले रोज मनोज कुमार के नेतृत्व में शिवशंकर सिंह, वरुण सरकार, शिवचन्द्र प्रसाद, गोनौर सहनी, कार्तिक मणि की टीम ने मुस्तफागंज बाजार पर बुधवार को भिक्षाटन किया। भिक्षाटन शुरू होते ही लोगो की भीड़ जमा हो गई और कई अन्य लोग भी अभियान के समर्थन में आ गये। देखते ही देखते यह खबर जंगल में लगी आग की तरह चारो ओर फैलने लगी। लोगो ने बताया कि सड़क दुर्घटना में मौत होने के बाद पीड़ित परिवार से चढ़ावा लिए बिना मीनापुर में चार लाख रुपये के चेक का भुगतना नहीं होता है। गलती से चेक जारी भी हो गया तो भुगतान पर रोक लगा दी जाती है। लोगो ने बताया कि दाखिल-खारिज में खुलेआम लूट मची है और अधिकारी से इसकी शिकायत करने पर कागजी पेंच फंसा दिया जाता है। इससे लोगो में जबरदस्त आक्रोश है।

सीओ ने किया इनकार

इधर, मीनापुर के अंचलाधिकारी ज्ञान प्रकाश श्रीवास्तव ने इसको बदनाम करने वाली अभियान बतातें हुए अवैध वसूली से इनकार किया है। अधिकारी ने बताया कि गैर न्यायोचित कार्य करने हेतु दबाव की राजनीति के तहत इस तरह का आंदोलन किया जा रहा है।

KKN लाइव टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है, खबरों की खबर के लिए यहां क्लिक करके आप हमारे चैनल को सब्सक्राइब कर सकते हैं।

Leave a Reply