भूदान के 40 लाख एकड़ जमीन की हकीकत, इस रिपोर्ट में

भूदान के 40 लाख एकड़ जमीन की हकीकत, इस रिपोर्ट में
Featured Video Play Icon

वह, 20वीं सदी का मध्य काल था। भारत के लोग 900 साल की गुलामी के बाद आजादी की अंगराई ले रहे थे। समस्याएं मुंह वाए खड़ी थी। गरीबी चरम पर था। भूमि के 90 फीसदी हिस्सा पर 10 फीसदी लोगो का कब्जा था। भूमिहीन लोग असामी बन कर जीवन जीने को अभिशप्त थे। नव गठित सरकार आर्थिक तंगी से जूझ रही थी। ऐसे में लोगो के लिए आशा की एक किरण बन कर सामने आया एक शख्स। जिसका नाम था विनोवा भावे। विनोवा जी ने भूदान आंदोलन चालाया और देश के लोगो ने 40 लाख एकड़ जमीन दान में दी दी। सवाल उठता है कि दान में मिली वह जमीन गई कहां? देखिए इस रिपोर्ट में

KKN लाइव टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है, खबरों की खबर के लिए यहां क्लिक करके आप हमारे चैनल को सब्सक्राइब कर सकते हैं।

Leave a Reply