बिलुप्त होने के कगार पर है दुनिया की ढ़ाई हजार भाषाएँ…

बिलुप्त होने के कगार पर है दुनिया की ढ़ाई हजार भाषाएँ...
Featured Video Play Icon

क्या आपने कभी सोचा है कि धरती की अन्य जीवो की तुलना में इंसान सबसे अधिक शक्तिशाली कैसे बन गया। कैसे ज्ञान अर्जित करके सभ्यता का निर्माण किया और धरती पर अपनी सत्ता कायम कर ली। जाहिर है इसके कई आयाम हो सकतें है। पर, इसमें सबसे महत्वपूर्ण है, इंसानी विचारो का सम्प्रेषण। जिसके लिए इंसान ने खुद के लिए भाषा का विकास किया। दरअसल, इसी भाषा की कूबत पर एक इंसान दूसरे इंसान के मजबूत संपर्क में आया और इसी भाषा की वजह से उसने ज्ञान अर्जित करके सभ्यता का निर्माण कर डाला। पर, क्या आप जानतें हैं कि आज हमारी कई भाषाएं बिलुप्त होने के कगार पर है। या यू कहें कि वह अपना स्तित्व खोने की कगार पर है। हकीकत इतना खतरनाक है कि आपको जान कर हैरानी होगी। ‘खबरो की खबर’ के इस सेगमेंट में आज हम इसी भाषा की पड़ताल करेंगे। देखिए, इस रिपोर्ट में…

KKN लाइव टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है, खबरों की खबर के लिए यहां क्लिक करके आप हमारे चैनल को सब्सक्राइब कर सकते हैं।

हमारे एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। हमारे सभी खबरों का अपडेट अपने फ़ेसबुक फ़ीड पर पाने  के लिए आप हमारे फ़ेसबुक पेज को लाइक कर सकते हैं, आप हमे  ट्विटर और इंस्टाग्राम पर भी फॉलो कर सकते हैं। वीडियो का नोटिफिकेशन आपको तुरंत मिल जाए इसके लिये आप यहां क्लिक करके हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *