टापू बने गांव में चचरी का पुल बना लाइफलाइन

KKN न्यूज ब्यूरो। बिहार के मुजफ्फरपुर का कई इलाका बाढ़ से परेसान है। किंतु, ऐसा भी गांव है, जो बाढ़ से नहीं बल्कि, बरसात की पानी भर जाने से टापू बन गया है। मीनापुर थाना के मदारीपुर गांव का सहनी टोला, ऐसा ही एक गांव है। अधिकारी और जन प्रतिनिधि से निराश होकर ग्रामीणों ने एकजुटता दिखाई और 24 घंटे के भीतर चचरी का पुल बना कर एक नजीर पेश कर दिया। गुरुवार को आवागमन बहाल होते ही मदारीपुर गांव के सहनी टोला में उत्सव का नजारा था। गांव के पुनीत सहनी बतातें है कि सड़क पर करीब छह फीट बरसात का पानी जमा हो जाने से यहां के करीब 500 परिवार का पिछले एक सप्ताह से आवागमन ठप था।

विभागीय पत्र

संतोष सहनी ने मुखिया से गुहार लगाई और फिर विधायक से भी मदद मांगी। किंतु, जब किसी ने नहीं सुनी तो ग्रामीणों ने बुधवार को बैठक कर चंदा से 40 हजार रुपये जमा किए और आनन-फानन में बांस का पुल बनाने का काम शुरू कर दिया। दो दर्जन से अधिक लोगों के दिनरात की मेहनत रंग लाई और मात्र 24 घंटे में गांव की लाइफलाइन कहलाने वाली चचरी पुल बन कर तैयार हो गया। पुल के चालू होते ही गांव के लोगो का समीप के दूसरे गांवों से संपर्क बहाल हो गया और ग्रामीण चहक उठे।
इस मौके पर गांव में मौजूद छात्र राजद के जिला अध्यक्ष अमरेन्द्र कुमार ने बताया कि वे दो साल से गांव में सड़क बनाने की मांग कर रहे हैं। इस बीच जिलाधिकारी से गुहार लगाई और मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा। थक कर लोक अदालत में मामल दर्ज कराया। अदालत का निर्णय निराशा करने वाला था। इसमें कहा गया कि विधायक से मिल कर सड़क बनाने का आग्रह करें। जबकि, विधायक से पहले भी अनुरोध किया जा चुका था। पर, उन्होंने सुध नहीं ली। छात्र नेता ने बरसात के बाद सड़क की मांग को लेकर गांववालों के साथ आंदोलन करने का ऐलान कर दिया है।

KKN लाइव टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है, खबरों की खबर के लिए यहां क्लिक करके आप हमारे चैनल को सब्सक्राइब कर सकते हैं।

हमारे एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। हमारे सभी खबरों का अपडेट अपने फ़ेसबुक फ़ीड पर पाने  के लिए आप हमारे फ़ेसबुक पेज को लाइक कर सकते हैं, आप हमे  ट्विटर और इंस्टाग्राम पर भी फॉलो कर सकते हैं। वीडियो का नोटिफिकेशन आपको तुरंत मिल जाए इसके लिये आप यहां क्लिक करके हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *