बिहार छोड़ कर भागे एनएचपीसी के अधिकारी

ठेकेदार से बताया जान को खतरा, पीएमजीएसवाई पर लगा ग्रहण

मुजफ्फरपुर। सरकार चाहे जो दावा कर ले। किंतु, सूबे की पुलिस बदमाशो पर नकेल कसने में कामयाब होती दीख नही रही है। नतीजा, अधिकारी बिहार छोड़ कर भागने लगे है और यहां चल रही विकास कार्य के ठप होने का खतरा उत्पन्न हो गया है। एनएचपीसी के कार्यकारी निदेशक प्रदीप जोहर के द्वारा राज्य सरकार व मुजफ्फरपुर जोन के आईजी को लिखे गये पत्र से इसका खुलाशा हुआ है। पत्र में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना से जुड़े अधिकारियों की सुरक्षा देने में पुलिस पर नाकामयाब होने का आरोप लगाते हुए दो अधिकारी के बिहार छोड़ कर चले जाने की बात कही गई है। बतातें हैं कि भुगतान को लेकर ठेकेदार शैलेश सिंह से लगातार मिल रही धमकी के बाद एनएचपीसी के दो अधिकारी बिहार छोड़कर चले गए हैं। बिहार छोड़ने वालों में एनएचपीसी के उप प्रबंधक प्रणव कुमार भारतीय व प्रबंधक आनंद कुमार का नाम शामिल है। बहरहाल, भय का यह माहौल खबड़ा के राहुल नगर स्थित पूरे कार्यालय और उसके कर्मियों व अधिकारियों में है। बतातें चलें कि एनएचपीसी राज्य में प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत सड़कें बनवा रही है। बिहार के छह जिलों में उसे अभी आधा दर्जन से अधिक सड़कों का निर्माण करना है। वही, 182 सड़कों के रख रखाव का जिम्मा भी उसी के अधीन आता है। केंद्र व राज्य सरकार के बीच हुए समझौते के मुताबिक केंद्रीय एजेंसी को सुरक्षा देने की जवाबदेही राज्य सरकार की है। किंतु, सुरक्षा मुहैय्या कराने में नाकामयाबी का आलम ये है कि अब सूबे में चल रही विकास के कार्य ठप पड़ने का खतरा उत्पन्न हो गया है।

KKN लाइव टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है, खबरों की खबर के लिए यहां क्लिक करके आप हमारे चैनल को सब्सक्राइब कर सकते हैं।

हमारे एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। हमारे सभी खबरों का अपडेट अपने फ़ेसबुक फ़ीड पर पाने  के लिए आप हमारे फ़ेसबुक पेज को लाइक कर सकते हैं, आप हमे  ट्विटर और इंस्टाग्राम पर भी फॉलो कर सकते हैं। वीडियो का नोटिफिकेशन आपको तुरंत मिल जाए इसके लिये आप यहां क्लिक करके हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कर लें।