वुहान लैब की इंटर्न थी पहली कोरोना मरीज़

क्या चीन के लैब से फैला है कोरोना
Featured Video Play Icon

कोरोना वायरस से पूरी दुनिया में हाहाकार मचा हुआ है और विश्व चीन को संदेह भरी नजरों से देख रहा है। इस बीच एक रिपोर्ट से पूरी दुनिया में यह चर्चा तेज हो गई है, कि क्या सच में चीन के वुहान में लैब से कोरोना वायरस फैला है?

दरअसल, अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को फॉक्स न्यूज की उस रिपोर्ट को स्वीकार किया, जिसमें यह दावा किया जा रहा है, कि कोरोना वायरस चीन के वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी में काम कर रही एक इंटर्न द्वारा गलती से लीक हो गया होगा। फॉक्स न्यूज ने अपनी रिपोर्ट में कहा है, कि वायरस का सबसे पहला ट्रांसमिशन चमगादड़ से मानव में हुआ और पहली संक्रमित रोगी इसी लैब में काम करती थी। वुहान शहर के आम लोगों में यह वायरस फैलने से पहले लैब की एक इंटर्न महिला कर्मचारी गलती से संक्रमित हो गई। शुरुआत में इस वायरस के उत्पत्ति स्थल वुहान वेट बाजार को माना गया,  लेकिन वहां चमगादड़ कभी नहीं बेचे गए।

व्हाइट हाउस के डेली ब्रीफिंग के दौरान बुधवार को डोनाल्ड ट्रंप से प्रश्न पूछते समय फॉक्स न्यूज के रिपोर्टर जॉन रॉबर्ट्स ने दावा किया, ‘कई सूत्र हमें बता रहे हैं कि अमेरिका यह बात मानने को तैयार है कि भले ही कोरोना वायरस प्राकृतिक है, मगर यह वुहान का वायरोलॉजी लैब से निकला है। वहां सुरक्षा नियमों का पालन न करने के कारण एक इंटर्न संक्रमित हो गई थी और बाद में यह वायरस वुहान के वेट मार्केट पहुंचा।’ आपको बता दें कि कोरोना का केंद्र चीन का वुहान शहर ही है।

इसके बाद डोनाल्ड ट्रंप ने न तो इस रिपोर्ट के दावों की पुष्टि की और न ही उसका खंडन किया। उन्होंने कहा, ‘हम ऐसी कई कहानियां सुन रहे हैं। लेकिन, यह जो खतरनाक घटना हुई है हम उसकी विस्तृत जांच कर रहे हैं।

KKN लाइव टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है, खबरों की खबर के लिए यहां क्लिक करके आप हमारे चैनल को सब्सक्राइब कर सकते हैं।

Leave a Reply