Society

मुग़लसराय जंक्शन अब पंडित दीनदयाल उपाध्याय के नाम से जाना जाएगा

योगी कैबिनेट का स्वागत योग्य फैसला

मुग़लसराय जंक्शन के पास ही मिला था पंडित जी का शव

राजकुमार सहनी
मुग़लसराय। बात 11 फरवरी 1968 की है। मुग़लसराय जंक्शन के पश्र्चिमी केबिन के पास बहोत ही संदिग्ध अवस्था में पाया गया एक शव को पुलिस लावारिस समझ रही थी। शव का शिनाख्त नही हो पा रहा था। उस वक्त स्टेशन पर कार्यरत कुछ रेलकर्मियों को शक हुआ कि की यह शव पंडित दीन दयाल उपाध्याय का है।
इसकी सूचना संघ के तत्कालीन नगर संघ चालक गुरबक्श कपाही को दे दिया गया। कपाही ने शव की शिनाख्त कर ली। दरअसल, यह शव पंडितजी का ही था। फिर क्या था, यह बात जंगल के आग की तरह पूरे देश में फैल गयी। संघ के सर संघचालक गोलवरकर जी और अटल बिहारी वाजपेयी मुग़लसराय आये। उसके बाद विधिवत रूप से शव को दिल्ली ले जाया गया जहां उनका अंतिम संस्कर किया गया। योगी कैबिनेट का फैसला लागू होने के बाद मुगलसराय स्टेशन को पंडित दीन दयाल स्टेशन के नाम से जाना जायेगा।
मुग़लसराय दिल्ली- हावड़ा रेल रूट के सर्वाधिक व्यस्ततम रेलवे स्टेशनों में शुमार है। यहां से 300 से ज्यादा ट्रेने रोज गुजरती है। मुगलसराय जंक्शन देश के सर्वाधिक व्यस्तयम रेलवे स्टेशनों में से एक है। यह जंक्शन देश को पूर्वी और पूर्वोत्तर भारत से जोड़ने का काम करती है। मुगलसराय में एशिया का सबसे बड़ा रेलवे यार्ड है और यही से ग्रैंड कार्ड रेल लाइन भी शुरू होती है। जो गया, धनबाद होते हुए हावड़ा के लिए जाती है। मुगलसराय-पटना रेल रूट, सन 1862 में अस्तित्व में आया था। जबकि, मुगलसराय-गया रूट 1900 में अस्तित्व में आया। मुगलसराय-इलाहाबाद रेलखंड 1864 में और मुगलसराय वाराणसी 1898 में अस्तित्व में आया।

This post was published on जून 7, 2017 22:45

KKN लाइव टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है, खबरों की खबर के लिए यहां क्लिक करके आप हमारे चैनल को सब्सक्राइब कर सकते हैं।

Show comments
Published by
राज कुमार सहनी

Recent Posts

  • Videos

स्वामी विवेकानन्द का नाइन इलेवन से क्या है रिश्ता

ग्यारह सितम्बर... जिसको आधुनिक भाषा में  नाइन इलेवन कहा जाता है। इस शब्द को सुनते… Read More

जुलाई 3, 2022
  • Videos

एक योद्धा जो भारत के लिए लड़ा और भारत के खिलाफ भी

एक सिपाही, जो गुलाम भारत में अंग्रेजों के लिए लड़ा। आजाद भारत में भारत के… Read More

जून 19, 2022
  • Bihar

सेना के अग्निपथ योजना को लेकर क्यों मचा है बवाल

विरोध के लिए संपत्ति को जलाना उचित है KKN न्यूज ब्यूरो। भारत सरकार के अग्निपथ… Read More

जून 18, 2022
  • Videos

कुदरत की रोचक और हैरान करने वाली जानकारी

प्रकृति में इतनी रोमांचक और हैरान कर देने वाली चीजें मौजूद हैं कि उन्हें देख… Read More

जून 15, 2022
  • Society

भाषा की समृद्धि से होता है सभ्यता का निर्माण

भाषा...एक विज्ञान है। यह अत्यंत ही रोचक है। दुनिया में जितनी भी भाषाएं हैं। सभी… Read More

जून 7, 2022
  • Videos

सात राज्यों में माननीय के वेतन का इनकम टैक्स भी सरकारी खजाने से क्यों

आजादी के बाद भारत की राजनीति गरीब और गरीबी के इर्द- गिर्द घूमती रही है।… Read More

जून 5, 2022