राजधानी दिल्ली में ध्वनि प्रदूषण खतरनाक मोड़ पड़

नई दिल्ली। केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने चौकाने वाला खुलाशा किया है। केन्द्रीय मंत्री ने राज्य सभा को बताया कि वर्ष 2014-16 के वायु गुणवत्ता के आंकड़े दिन प्रति दिन खतरनाक तरीके से बढ़ रहा है। मंत्री ने कहा कि दिल्ली के अधिकतर स्थानों पर ध्वनि प्रदूषण एवं प्रदूषणकारी कणों की मात्रा स्वीकार योग्य सीमा से अधिक पायी गयी है तथा कुछ स्थानों पर नाइट्रोजन डाईआक्साइड का स्तर भी निर्धारित सीमा से अधिक पाया गया है। इस बीच सरकार ने ध्वनि प्रदूषण पर नियंत्रण के लिए कई कदम उठाए हैं। बीएस-4 मानकों को एक अप्रैल से अनिवार्य किया गया है। 2020 से सीधे बीएस-6 मानकों को लागू किया जाएगा। बहरहाल, आम लोगो में अज्ञानता के कारण ध्वनि प्रदूषण पुरे देश में खतरनाक स्तर तक पहुंच गया है। जानकार बतातें हैं कि समय रहते इसकी रोकथाम नही की गई तो हालात बिस्फोटक हो सकता है।

KKN लाइव टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है, खबरों की खबर के लिए यहां क्लिक करके आप हमारे चैनल को सब्सक्राइब कर सकते हैं।

हमारे एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। हमारे सभी खबरों का अपडेट अपने फ़ेसबुक फ़ीड पर पाने  के लिए आप हमारे फ़ेसबुक पेज को लाइक कर सकते हैं, आप हमे  ट्विटर और इंस्टाग्राम पर भी फॉलो कर सकते हैं। वीडियो का नोटिफिकेशन आपको तुरंत मिल जाए इसके लिये आप यहां क्लिक करके हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *