नए साल में नई सोच का संकल्प…

नए साल में नई सोच का संकल्प...
Featured Video Play Icon

वर्ष का कैलेंडर बदलते ही अक्सर लोग नये साल का बड़े उल्लास से स्वागत करते हैं। एक दूसरे को शुभकामनाएं देतें हैं और ढेर सारी शुभकामनाएं लेतें भी हैं। लेकिन क्या हमने कभी सोचा है कि हमें जितनी भी शुभकामनाएं मिलती हैं, उनमें से कितनों को अपने जीवन में सच करके दिखाया है? दरअसल, सपने स्वयं सच नहीं होते, उन्हें सच करना पड़ता है। दुनिया की बड़ी आबादी के लिए एक जनवरी ही नया वर्ष होता है। ऐसे में यदि सचमुच नये साल को सार्थक करना है, तो जरूरी है कि कुछ तो ऐसा नया शुरूआत करें कि पूरा साल अपने पिछले साल की तुलना में नया बनकर हमारे जीवन में कुछ नया जोड़े दे।

KKN लाइव टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है, खबरों की खबर के लिए यहां क्लिक करके आप हमारे चैनल को सब्सक्राइब कर सकते हैं।

Leave a Reply