चौथेपन में भी नहीं छूटा पुस्तक का साथ

Veteran Poet Jaganath Prasad Interview
Featured Video Play Icon

उम्र के चौथेपन में पहुंच कर भी पुस्तक पढ़ने का जुनून, युवाओं के लिए प्रेरणा का स्त्रोत हो सकता है। शौक सिर्फ पढ़ने का नही, बल्कि, लिखने का भी है। यह कोई कहानी नहीं, बल्कि एक हकीकत है, अवकाश प्राप्त शिक्षक जगन्नाथ प्रसाद कुशवाहा की। बिहार के मुजफ्फरपुर जिला से करीब 15 किलोमीटर दूर मीनापुर के नेउरा गांव में KKN लाइव से बातचीत करते हुए जगन्नाथ प्रसाद कुशवाहा ने अपने जीवन के कई रहस्यो पर से पर्दा उठाया। देखिए, इस रिपोर्ट में…

KKN लाइव टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है, खबरों की खबर के लिए यहां क्लिक करके आप हमारे चैनल को सब्सक्राइब कर सकते हैं।

हमारे एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। हमारे सभी खबरों का अपडेट अपने फ़ेसबुक फ़ीड पर पाने  के लिए आप हमारे फ़ेसबुक पेज को लाइक कर सकते हैं, आप हमे  ट्विटर और इंस्टाग्राम पर भी फॉलो कर सकते हैं। वीडियो का नोटिफिकेशन आपको तुरंत मिल जाए इसके लिये आप यहां क्लिक करके हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *