कुढ़नी में सात माह से शिक्षको का वेतन बकाया, संघ ने जताई नाराजगी

संजय कुमार सिंह
मुजफ्फरपुर। लगातार शिक्षक के साथ सरकार व शिक्षा विभाग ठगने की काम कर रही है। सात माह से 550 शिक्षक वेतन की राह देख रहे तो दो वर्षों से शत प्रतिशत सेवा पुस्तिका व एरियर भूगतान नही हुई अब धैर्य टुट रही है। ये बातें गुरूवार को बीआरसी कुढ़नी मे अपनी सभी लंबित मामले से नाराज परिवर्तन कारी प्रारंभिक शिक्षक संघ के दर्जनों शिक्षक ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों से नाराजगी व्यक्त करते हुए कही।
संघ के प्रतिनियुक्त पर्यवेक्षक सह जिला सचिव मो.मुर्तुजा आलम के नेतृत्व मे कुढ़नी बीरआरसी मे सभी मामलों की जांच कर कड़ी आपत्ति जताई। उन्होंने कहा कि सरकार पिछले सात वर्षों से शिक्षा का अधिकार अधिनियम लागू कर रखी है। बावजूद शिक्षक को न समय से वेतन दी जाती है न पढ रहे बच्चों को किताब इससे गुणवत्ता पुर्ण शिक्षा देना क्या संभव है। आलम यह है कि होली न दिवाली मे वेतन मिलती है । आज रमजान का पर्व भी चल रही है और हमारे शिक्षक बिना वेतन के रोजा रखते है सामने इद है अपने बच्चों व परिवार के सदस्यों को भी कपड़े नही खरीद सकेंगे ।
मौके पर संघ के प्रखण्ड अध्यक्ष राजेश यादव,महामंत्री संजीव कुमार, संयोजक राजेश कुमार, जिला उपाध्यक्ष ताजुल आरफीन, प्रखण्ड सचिव निलंबन शाही, मीडिया प्रभारी रविन्द्र कुमार, नवल पटेल, सुमित कुमार, शिवचंद्र पंडित, रविन्द्र पंडित, विजय भास्कर, आनंद सागर, ब्रजेश सिंह, सुरेन्द्र कुमार, नागेन्द्र राय, रंजीत कुमार, कुमारी कमानि, सीता, गीता, अनामिका व सीमा कुमारी मौजूद थी ।