Crime

सीतामढ़ी न्यायालय में पेशी के दौरान कुख्यात कैदी को गोलियों से भूना, मौत

बिहार में कानून के राज को अब अपराधी खुलेआम चुनौती देने लगे है। मामला बिहार के सीतामढ़ी सीजेएम न्यायालय का है। पुलिस सुरक्षा को ठेंगा दिखा कर बाइक सवार तीन बदमाशो ने पेशी के लिए आये कुख्यात संतोष झा को दोपहर करीब तीन बजे में गोली मार कर हत्या कर दी है। इस दौरान सीजेएम कोर्ट के एक चपरासी को भी गोली लगी है। हालांकि, वह खतरे से बाहर बताया जा रहा है। घटना के बाद कोर्ट परिसर में भगदड़ मच गया।

 

अत्याधुनिक हथियार से की फायरिंग

बताया जा रहा है बाइक सवार तीन बदमाशो ने अत्याधुनिक हथियार एके-56 से करीब 20 राउंड फायरिंग किया। इसमें से एक गोली संतोष के सिर और दूसरा पेट में लगी और वह मौके पर ही ढ़ेर हो गया। गोली की तड़तड़ाहट से सीजेएम कोर्ट में मंगलवार को अफरा-तफरी मच गयी। लोग डर के मारे इधर-उधर भागने लगे। कोर्ट परिसर की सुरक्षा को लेकर वकीलो ने नाराजगी जताई है। हालांकि, इस घटना के बाद से कोर्ट परिसर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

सीतामढ़ी जेल से पेशी के लिए आया था संतोष

कुख्यात संतोष सीतामढ़ी जेल में बंद था और पुलिस सुरक्षा के बीच पेशी के लिए उसे सीतामढ़ी जेल से ही कोर्ट लाया गया था। पेशी के दौरान ही पुलिस की मौजूदगी में पहले से घात लगाए अपराधियों ने संतोष झा पर दनादन फायरिंग शुरू कर दी। गोली उसको सिर और पेट में लगी और वह कोर्ट परिसर में ही गिर गया। इसके बाद पुलिस ने आनन-फानन में उसको इलाज के लिए सदर अस्पताल भेजा, जहां डॉक्टरों ने संतोष को मृत घोषित कर दिया।

संतोष पर पहले से दर्ज है कई मामले

कोर्ट परिसर में फायरिंग की सूचना मिलने पर एसपी के नेतृत्व में भारी संख्या में पुलिस के जवान कोर्ट परिसर में पहुंचकर कोर्ट की घेराबंदी कर ली है। बतातें चलें कि मृतक संतोष झा एक कुख्यात अपराधी था। आरम्भ में उसका नक्सल से जुड़ाव रहा है। संतोष झा पर पूर्व से ही कई मामले दर्ज हैं। वह शिवहर जिले के पुरनहिया थाने के दोस्तियां गांव का रहनेवाला था। वर्ष 2001 में वह एक मुखिया पर हमले के बाद चर्चा में आया था और इसके बाद अपराध की दुनिया में पीछे मुड़कर कभी नहीं देखा।

दरभंगा इंजीनियर हत्याकांड का था मास्टर माइंड

संतोष झा पर दरभंगा में एक इंजीनियर की हत्या करने, रीगा के पास पुलिस से मुठभेड़ करने, सीतामढ़ी के एक जिला पार्षद की हत्या करने समेत करीब दो दर्जन से अधिक मामले दर्ज है। स्मरण रहे कि इसमें से कई मामले में आजीवन कारावास की सजा भी हो चुकी थी। पिछले दिनों इसको सीतामढ़ी जेल में यहां के एक मुकदमों की सुनवाई को लेकर लाया गया था। कुछ दिनों पूर्व मोतिहारी में भी इसी के गैंग के एक सदस्य अविनाश झा की कोर्ट परिसर में ही गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

खबरो की खबर के लिए पेज को फॉलो कर लें और शेयर जरुर करें। आपके सुझाव का भी इंतजार रहेगा।

This post was published on अगस्त 28, 2018 19:24

KKN लाइव टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है, खबरों की खबर के लिए यहां क्लिक करके आप हमारे चैनल को सब्सक्राइब कर सकते हैं।

Show comments
Published by
KKN न्‍यूज ब्यूरो

Recent Posts

  • Videos

स्वामी विवेकानन्द का नाइन इलेवन से क्या है रिश्ता

ग्यारह सितम्बर... जिसको आधुनिक भाषा में  नाइन इलेवन कहा जाता है। इस शब्द को सुनते… Read More

जुलाई 3, 2022
  • Videos

एक योद्धा जो भारत के लिए लड़ा और भारत के खिलाफ भी

एक सिपाही, जो गुलाम भारत में अंग्रेजों के लिए लड़ा। आजाद भारत में भारत के… Read More

जून 19, 2022
  • Bihar

सेना के अग्निपथ योजना को लेकर क्यों मचा है बवाल

विरोध के लिए संपत्ति को जलाना उचित है KKN न्यूज ब्यूरो। भारत सरकार के अग्निपथ… Read More

जून 18, 2022
  • Videos

कुदरत की रोचक और हैरान करने वाली जानकारी

प्रकृति में इतनी रोमांचक और हैरान कर देने वाली चीजें मौजूद हैं कि उन्हें देख… Read More

जून 15, 2022
  • Society

भाषा की समृद्धि से होता है सभ्यता का निर्माण

भाषा...एक विज्ञान है। यह अत्यंत ही रोचक है। दुनिया में जितनी भी भाषाएं हैं। सभी… Read More

जून 7, 2022
  • Videos

सात राज्यों में माननीय के वेतन का इनकम टैक्स भी सरकारी खजाने से क्यों

आजादी के बाद भारत की राजनीति गरीब और गरीबी के इर्द- गिर्द घूमती रही है।… Read More

जून 5, 2022