Crime

जेएनयू में हिंसा, एफआईआर दर्ज

आरोप प्रत्यारोप का सिलसिला शुरू

KKN न्यूज ब्यूरो। जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय यानी जेएनयू एक बार से सुर्खियों में है। सुर्खियां किसी मेडल या अवार्ड के लिए नहीं। बल्कि, हिंसक झडप के लिए बन रही है। रविवार को हुई हिंसा में कई दर्जन छात्र छात्राएं जख्मी हो गए। हमलावरो ने कैंपस के भीतर जमकर तोड़फोड़ की है। जाहिर है, इसके बाद दिल्ली की राजनीति में अचानक गरमाहट आ गई और नेताओं के बीच भी जुबानी जंग शुरू हो गई। इस बीच पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज और जांच के आधार पर कार्रवाई शुरू कर दी है।

अज्ञात पर एफआईआर दर्ज

जेएनयू में रविवार की रात हुई हिंसा के मामले में दिल्ली पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ एक मामला दर्ज किया है। अधिकारियों ने सोमवार को दावा किया है कि दंगा करने और सम्पति को नुकसान पहुंचाने के संबंध में अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। बतादें कि रविवार को नकाबपोशों ने जेएनयू कैंपस में छात्रों और शिक्षकों पर हमला किया था, जिसमें कई घायल हो गए थे। सोशल मीडिया और सीसीटीवी फुटेज के आधार पर जांच की जा रही है।

उपराज्यपाल से गृहमंत्री ने की बात

इस बीच गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल से फोन पर बात की और उनसे कहा कि जेएनयू के प्रतिनिधियों को बातचीत के लिए बुलाए। इससे पहले गृह मंत्री ने कल दिल्ली पुलिस के प्रमुख अमुल्या पटनायक से भी बात की और उन्हें मामले की जांच करने का आदेश दिया था। गृह मंत्रालय ने दिल्ली पुलिस से मामले पर रिपोर्ट भी मांगी है। इधर, जेएनयू के कुलपति एम जगदीश कुमार ने सोमवार को सभी छात्रों से शांति बनाए रखने की अपील की है।

ऐसे भड़की हिंसा

दरअसल, जेएनयू परिसर में रविवार रात उस वक्त हिंसा भड़क गयी थी, जब लाठियों से लैस कुछ नकाबपोश लोगों ने छात्रों तथा शिक्षकों पर हमला कर दिया और परिसर में संपत्ति को नुकसान पहुंचाया। इसके बाद प्रशासन ने पुलिस को बुलाया। इस हमले में जेएनयू छात्र संघ की अध्यक्ष आइशी घोष सहित कम से कम 28 लोग घायल हुए हैं।

राजनीतिक बयानबाजी शुरू

जेएनयू हिंसा के बाद दिल्ली में राजनीतिक बयानबाजी शुरू हो गयी है। लेफ्ट और राइट आमने सामने आ गएं हैं। कॉग्रेस, आम आदमी पार्टी और बीजेपी के नेता एक दूसरे को हिंसा के लिए जिम्मेदार ठहराने की हरसम्भव कोशिश में जुट चुकें हैं। दिल्ली में होने वाले विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए छात्रो के जख्म को वोट में तब्दिल करने की शर्मनाक जुगत के बीच हिंसा के असली दोषी पकड़े जायेंगे? फिलहाल, यह बड़ा सवाल है।

This post was published on जनवरी 6, 2020 13:09

KKN लाइव WhatsApp पर भी उपलब्ध है, खबरों की खबर के लिए यहां क्लिक करके आप हमारे चैनल को सब्सक्राइब कर सकते हैं।

Show comments
Published by
KKN न्‍यूज ब्यूरो

Recent Posts

  • Videos

तीन तलाक पर हैदराबाद के मुस्लिम महिलाओं का असंतोष क्या वोट के बिखराव का कारण बनेगा…

हैदराबाद को हॉट सीट बनाने में बीजेपी के महत्वपूर्ण भूमिका से इनकार नहीं किया जा… Read More

अप्रैल 17, 2024
  • Videos

Jubba Sahani रेलवे स्टेशन के इस परिस्थिति का जिम्मेदार कौन?

Jubba Sahani रेलवे स्टेशन के इस परिस्थिति का जिम्मेदार कौन? https://youtu.be/k8dMmRv8BB8   Read More

अप्रैल 16, 2024
  • Videos

किस बात पर Meerut में हुआ TV के राम Arun Govil का विरोध

किस बात पर Meerut में हुआ TV के राम Arun Govil का विरोध... https://youtu.be/8-OUemIFGG8 Read More

अप्रैल 13, 2024
  • Videos

Rohini Acharya : मुझे लग रहा है की मैं अपने मायके आ गई हूँ।

आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की बेटी रोहिणी आचार्य इन दिनों सुर्खियों में है। रोहिणी… Read More

अप्रैल 11, 2024
  • Politics

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की फिसली जुबान या कमजोर हो गई यादाश्त, चार सौ नहीं बल्कि चार हजार पार कराने का क्यों किया दावा

चार लाख कहना चाह रहे थे मुख्यमंत्री KKN न्यूज ब्यूरो। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार… Read More

अप्रैल 10, 2024
  • Videos

Vaishali में होगा घमासान…परिणाम चौकाने वाला हो सकता है

Bihar के Vaishali को गणतंत्र की जननी कहा जाता है। बौद्ध और जैन धर्म के… Read More

अप्रैल 10, 2024