Categories: Muzaffarpur

बूढ़ी गंडक में मछलियों का मरना निरंतर जारी, जिम्मेवार कौन?

राजकुमार सहनी
मुजफ्फरपुर।  बूढ़ी गंडक नदी में केमिकल के असर से मछलियों के मरने का सिलसिला नहीं थम रहा है और स्थिति दिन प्रतिदिन भयावह होता जा रहा है। आथर घाट में बड़ी संख्या में मरीं मछलियां देखी गईं। नदी का पानी भी काला नजर आने लगा है पानी जैसे जैसे आगे के तरफ बढ़ रहा है जहरीला होता जा रहा है। ऐसे में अभी तक सरकार के तरफ से कोई पहल नहीं होना चौका देता है।
विदित हो की मामले को लेकर बोचहां के देवव्रत सहनी ने मुशहरी थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। प्राथमिकी में कहा गया कि बुधवार सुबह आथर घाट में बड़ी संख्या में मरीं मछलियां पानी के ऊपर आ गईं। आशंका जताई जा रही कि नदी के प्रवाह क्षेत्र में किसी मिल से केमिकल छोड़े जाने से ऐसा हुआ। यह केमिकल जैसे-जैसे पानी में मिलकर आगे जाएगा मछलियां व अन्य जलजीवों पर इसका दुष्प्रभाव पड़ना तय है। वहीं नदी किनारे रहने वाले लोगों के स्वास्थ्य पर भी इसका बुरा असर पड़ रहा है।
बोचहां विधायक बेबी कुमारी ने भी बूढ़ी गंडक में मछलियों के मरने का मामला उठाया है। उन्होंने कहा कि नदी में जहरीला पानी या केमिकल छोड़ा गया है। इससे मछलियां मर रही है। उन्होंने प्रशासन से इसे गंभीरता से लेते हुए मामले की जांच करने को  कहा है। वहीं इसका मछुआरों पर असर पड़ने से मुआवजा की भी मांग की है। कहतें हैं कि जहरीला कचरा बहाने का मामला प्रकाश में आया है। प्रखंड के डढिया ढाब, राजबाड़ा, ककराचक आदि गांवों में नदी का पानी विषाक्त हो गया है। जिससे मछलियों के साथ पानी में रहने वाले जीव भी तेजी से मरने लगा हैं।
तीन दिनों में करोड़ों रुपये की मछली मरकर पानी की ऊपरी सतह पर आ गई है। इससे महामारी फैलने की आशंका से इनकार नही किया जा सकता है। इतना ही नहीं, आसपास के गांवों में मवेशी भी इस जहरीले पानी को पीने से बीमार होने लगे हैं। भाकपा माले नेताओं की जांच टीम ने घटना स्थल का मुइाअना करने के बाद प्रशासन से अबिलम्ब हस्तक्षेप करने की मांग की है। टीम में माले के प्रखंड सचिव रामबालक सहनी, कमेटी के राज्य सदस्य बिंदेश्वर साह, वीरेंद्र पासवान आदि शामिल थे। इनलोगों ने आरोप लगाया कि नदी में चीनी मिल का जहरीला कचरा बहाने के कारण सैकड़ों क्विंटल छोटी- बड़ी मछलियां मर गई हैं। भाकपा माले ने इसके लिए जवाबदेह चीनी मिल पर मुकदमा दर्ज करने के साथ कड़ी कार्रवाई की मांग की है।
इस बीच बोचहां के देवव्रत सहनी ने मुशहरी थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। प्राथमिकी में कहा गया कि बुधवार सुबह लोगों ने आथर घाट में बड़ी संख्या में मरीं मछलियो को पानी के ऊपर देखा। इसके बाद गांव में सनसनी फैल गई।

This post was published on अप्रैल 6, 2017 20:35

KKN लाइव टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है, खबरों की खबर के लिए यहां क्लिक करके आप हमारे चैनल को सब्सक्राइब कर सकते हैं।

Show comments
Published by
राज कुमार सहनी

Recent Posts

  • Bihar

नीतीश की भाजपा से दूरी कब और क्यों

KKN न्यूज ब्यूरो। बिहार की राजनीति में एक बड़ा बदलाव आ गया है। भाजपा और… Read More

अगस्त 9, 2022
  • KKN Special

इलाहाबाद क्यों गये थे चन्द्रशेखर आजाद

KKN न्यूज ब्यूरो। बात वर्ष 1920 की है। अंग्रेजो के खिलाफ सड़क पर खुलेआम प्रदर्शन… Read More

जुलाई 23, 2022
  • Videos

स्वामी विवेकानन्द का नाइन इलेवन से क्या है रिश्ता

ग्यारह सितम्बर... जिसको आधुनिक भाषा में  नाइन इलेवन कहा जाता है। इस शब्द को सुनते… Read More

जुलाई 3, 2022
  • Videos

एक योद्धा जो भारत के लिए लड़ा और भारत के खिलाफ भी

एक सिपाही, जो गुलाम भारत में अंग्रेजों के लिए लड़ा। आजाद भारत में भारत के… Read More

जून 19, 2022
  • Bihar

सेना के अग्निपथ योजना को लेकर क्यों मचा है बवाल

विरोध के लिए संपत्ति को जलाना उचित है KKN न्यूज ब्यूरो। भारत सरकार के अग्निपथ… Read More

जून 18, 2022
  • Videos

कुदरत की रोचक और हैरान करने वाली जानकारी

प्रकृति में इतनी रोमांचक और हैरान कर देने वाली चीजें मौजूद हैं कि उन्हें देख… Read More

जून 15, 2022