पांच पंचायतो का ओडीएफ का प्रस्ताव पारित

​खुशी सीएलएफ के वार्षिक अधिवेशन मे पिछले वर्ष का पेश हुआ लेखाजोखा

संतोष कुमार गुप्ता

मीनापुर। जीविका परियोजना अंतर्गत खुशी जीविका संकुल स्तरीय संघ मिल्की बनघारा का वार्षिक अधिवेशन सोमवार को रघई पैक्स भवन मे हुई। वार्षिक प्रतिनिध आम सभा मे पिछले वर्ष का लेखा जोखा प्रस्तुत हुआ। अध्यक्षता संघ की अध्यक्षा सुनीता देवी ने किया। अधिवेशन मे नंदना,हरका,रघई,घोसौत व टेंगरारी को शौंच मुक्त करने का कार्ययोजना पारित किया गया। जीविका के बीपीएम सुधीर कुमार रॉय ने दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का उद्घाटन किया। उद्घाटन के मौके पर  इलाहाबाद बैंक बनघारा के शाखा प्रबंधक व रघई पंचायत के मुखिया चंदेश्वर साह मौजूद थे। सीएलएफ के मुख्य लेखापाल  केदार कुमार गुप्ता ने  वार्षिक लाभ-हानि विवरण प्रस्तुत किया। लेखाजोखा मे बताया गया कि इस वर्ष का शुद्ध मुनाफा 18,43,403 रु० हुआ.अगले वर्ष का बजट पेश किया गया। जिसमे अगामी वर्ष का 25,00,000 रु० लाभ का लक्ष्य निर्धरित किया गया।  उसके बाद प्रखण्ड परियोजना प्रबंधक  सुधीर कुमार रॉय ने कहा कि शौचालय निर्माण कराना हर हाल मे जरूरी है। लोग प्राथमिकता के आधार पर इस कार्य को कराये। उन्होने शौचालय नही रहने पर उससे होने वाली

नुकसान को विस्तार से बताया। उन्होने कहा कि 80 प्रतिशत बीमारी खुले में शौच के कारण होती है। उन्होंने बताया कि शौचालय के लिए गरीबी का बहाना नही चलेगा ।यह सरकार का अभियान है। सीएम के सात निश्चय मे इसको शामिल किया गया है। उन्होने रघई  पंचायत के वार्ड नंबर पांच को शौंच से मुक्त के लिए जीविका के दीदियो को बधाई दी। उन्होंने कहा की सभी जीविका के दीदी अपने

बच्चे को नियमित स्कुल भेजे, क्योकि की अशिक्षा भी गरीबी का बहुत बड़ा कारण है। अगर आप का बच्चा पढेगा तो आगे चल कर आप

के बुढ़ापे कि लाठी बनेगा ।  जिला स्वाथ्य, पोषण एवं स्वच्छता प्रबंधक डा गितिकाशंकर व रौशन कुमार ने बताया कि गर्भवती एवं धात्री माँ को पोषण कि जरूरत अधिक होती है। इस लिए अपने घरों में उनके खान पान पर विशेष ध्यान दे ताकि कोइ भी बच्चा कुपोषित न हो ।प्रखंड जीविकोपार्जन विशेषज्ञ अभिषेक श्रीवास्तव द्वारा आजीविका से जुडी गतिविधियों के बारे में बताते हुए कहे कि इस संकुल संघ में आजीविका के तीनो थीम में काम हो रहा है ।चाहे वह फार्म का हो या नॉन फार्म का हो या फिर लाइवस्टॉक का हो ।फार्म थीम के अन्तर्गत बताया कि इस वर्ष लीची कि मार्केटिंग का काम  हुआ है जिसमे ६० दीदियो का लीची देश के महानगरो में गया जैसे अहमदाबाद ,बंगलोरे,मुंबई, जिसके माध्यम से लगभग ६००००० रुपया तक कि आमदनी हुई है। इसके अलावा कस्टम हायरिंग सेंटर का भी इस वर्ष कार्य हुआ है जिसके अंतर्गत ट्रेक्टर ,रोतावाटर,आदि चीजों की खरीददारी इसी माह हुई। जिसके माध्यम से लगभग २०००० कि आमदनी हुई है.इस संकुल संघ के अंतर्गत बकरी पालन,मुर्गी पालन,और मधुमख्खी पालन के साथ साथ दुग्ध उत्पादक सहायता समूह भी काम कर रहा है।  क्षेत्रिय समन्वयक कौशल किशोर प्रसाद  ने धन्यवाद ज्ञापन किया।  मौके पर सीएलएफ के निदेशक मंडल के सदस्य,सभी कार्यकर्ता एवं जीविका परियोजना की ओर से प्रिंस कुमार प्रशिक्षण अधिकारी , रानी कुमारी , ज्योत्सना कुमारी,सरिता कुमारी ,बिन्जू श्री ,रणंजय कुमार, आदि थे ।

KKN लाइव WhatsApp पर भी उपलब्ध है, खबरों की खबर के लिए यहां क्लिक करके आप हमारे चैनल को सब्सक्राइब कर सकते हैं।