इजराइल की मदद से बिहार में खुलेगा कृषि अनुसंधान केंद्र

बिहार। बिहार के नालंदा में सब्जी और वैशाली में लीची व आम से संबंधित अनुसंधान केंद्र की स्थापना होगी। इस केन्द्र को इजराइल की मदद से स्थापित किया जायेगा। बिहार में स्थापित होने वाले यह अनुसंधान केंद्र सेंटर ऑफ एक्सिलेंस बनेंगे। इन केंद्रों पर किसानों को नई व उन्नत तकनीक के संबंध में प्रशिक्षण भी दिया जाएगा। इजराइल के राजदूत डेनियल कारमोन ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात के क्रम में उन्हें यह जानकारी दी है।
इजराइली राजदूत ने बताया कि भारत में कृषि अनुसंधान के क्षेत्र में इजराइल सहयोग कर रहा है। बिहार में स्थापित होने वाले यह केंद्र तमाम अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस होंगे। इसमें किसानों को नई व उन्नत तकनीक की जानकारी दी जाएगी। इसे सेंटर ऑफ एक्सिलेंस बनाया जाएगा।
इजराइली राजदूत ने भविष्य में भी बिहार को कृषि सहित अन्य क्षेत्रों में सहयोग करने की इच्छा जताई। सीएम ने इजराइल के इस सहयोग पर आभार प्रकट किया और राजदूत को अंगवस्त्र व प्रतीक चिह्न भेंट किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार, सचिव अतीश चंद्रा व मनीष कुमार वर्मा, इजराइली राजदूत के राजनीतिक सलाहकार अदवा विलचिंसकी मौजूद थे।

KKN लाइव टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है, खबरों की खबर के लिए यहां क्लिक करके आप हमारे चैनल को सब्सक्राइब कर सकते हैं।

हमारे एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। हमारे सभी खबरों का अपडेट अपने फ़ेसबुक फ़ीड पर पाने  के लिए आप हमारे फ़ेसबुक पेज को लाइक कर सकते हैं, आप हमे  ट्विटर और इंस्टाग्राम पर भी फॉलो कर सकते हैं। वीडियो का नोटिफिकेशन आपको तुरंत मिल जाए इसके लिये आप यहां क्लिक करके हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *