चन्द्रशेखर आजाद क्यों गये थे इलाहाबाद

Report on Chandra Sekhar Azad
Featured Video Play Icon

बात वर्ष 1920 ई. की है। अंग्रेजो के खिलाफ सड़क पर खुलेआम प्रदर्शन कर रहे एक 14 साल के किशोर को पुलिस गिरफ्तार करती है। किंतु, कम उम्र की वजह से अंग्रेज ऑफिसर को उस पर दया आ गया और 15 कोड़े मार कर उसे छोड़ देने का आदेश दे दिया गया। अधिकारी ने पूछा- तुम्हारा नाम क्या है। जवाब मिला- आजाद। तुम्हारे बाप का नाम क्या है। जवाब मिला- स्वतंत्रता। उस किशोर ने अपना पता- जेल बता कर अंग्रेज अधिकारी को चौका दिया था। बात यहीं नहीं रुकी। बल्कि, जब सिपाहियों ने कोड़े मारने शुरू किए। तब प्रत्येक कोड़े पर वह चिल्लाने की जगह। भारत माता की जय बोलने लगा था। दरअसल, यही वो लड़का था। जो, आगे चल कर चन्द्रशेखर आजाद के नाम से जाना गया। सवाल उठता है कि चन्द्रशेखर आजाद इलाहाबाद क्यों गए थे और अंग्रेजो को इसकी भनक कैसे लगी? देखिए पूरी रिपोर्ट…

KKN लाइव टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है, खबरों की खबर के लिए यहां क्लिक करके आप हमारे चैनल को सब्सक्राइब कर सकते हैं।

हमारे एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। हमारे सभी खबरों का अपडेट अपने फ़ेसबुक फ़ीड पर पाने  के लिए आप हमारे फ़ेसबुक पेज को लाइक कर सकते हैं, आप हमे  ट्विटर और इंस्टाग्राम पर भी फॉलो कर सकते हैं। वीडियो का नोटिफिकेशन आपको तुरंत मिल जाए इसके लिये आप यहां क्लिक करके हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *