बिहार में शराबबंदी, कितना हकीकत और कितना फंसाना

बिहार में शराबबंदी, कितना हकीकत और कितना फंसाना
Featured Video Play Icon

KKN न्‍यूज ब्यूरो। बिहार में शराबबंदी कानून के लागू हुए दो साल से अधिक होने को हैं। इस नए कानून के लागू होने के बाद पुलिस ने अब तक छह लाख से अधिक छापेमारी की है और अकेले बिहार में तकरीबन 25 लाख लीटर देशी और विदेशी शराब की बरामदगी भी हो चुकी है। इस बाबत बिहार के थानो में करीब एक लाख से अधिक एफआईआर दर्ज है और पुलिस ने इसमें अभी तक 1 लाख 21 हजार से अधिक लोगो को गिरफ्तार भी किया है। सरकारी दावों की मानें तो शराबबंदी के बाद बिहार में अपराध की घटनाओं में बेशक कमी भी आई है। लेकिन, यह भी सच है कि राज्य में शराब के तस्करी का नया चैनल भी बनने लगा है। शराब तस्करो का नया गिरोह या सिंडिकेट शासन और प्रशासन, दोनो के लिए चुनौती बन चुका है। बेहिचक कहा जा सकता है कि इसे कानून के रखवालों का भी संरक्षण मिल रहा है और यह बात अब किसी से छिपा हुआ भी नहीं है। यानी, यह बिहार का ओपन सीक्रेट है और इसे यहां सभी जानतें हैं। देखिए पूरी रिपोर्ट …

KKN लाइव टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है, खबरों की खबर के लिए यहां क्लिक करके आप हमारे चैनल को सब्सक्राइब कर सकते हैं।

हमारे एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। हमारे सभी खबरों का अपडेट अपने फ़ेसबुक फ़ीड पर पाने  के लिए आप हमारे फ़ेसबुक पेज को लाइक कर सकते हैं, आप हमे  ट्विटर और इंस्टाग्राम पर भी फॉलो कर सकते हैं। वीडियो का नोटिफिकेशन आपको तुरंत मिल जाए इसके लिये आप यहां क्लिक करके हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *