Categories: Politics Society

संकट में आप की सरकार

आज से करीब 6 साल पूर्व जिस उम्मीद से आप दल बनी और लोगो का उस पर भरोसा जगा शायद अब वह ढहता नजर आ रहा है। अन्ना हजारे के विरोध के बावजूद अरविन्द केजरीवाल और उनकी टीम ने एक राजनितिक दल आप बनाई। जिसका मकसद राजनीती में  उन आदर्शो के उच्च मानदण्डों को स्थापित करना था। अन्ना के नेतृत्व में अरविन्द केजरीवाल मनीष सिसोदिया व् कुमार विश्वास पर जनता का भरोसा बढ़ा और यह उम्मीद जताने जाने लगी की सरकार की चाल ढाल क्रियाकलाप में आमूल परिवर्तन के साथ विकास होगा। किन्तु अन्य दलो के क्रियाक्लपो से आप बाहर नही नकल  सकी। अपने के विवादों और नकारात्मक सोच ने सब कुछ तहस नहस कर दिया। जनता की उम्मीदों पर पानी फिरता दिख रहा है। एक के बाद एक अपने केजरीवाल के बागी होते जा रहे है। अपनी करारी हार को मानने को तैयार नही है। हार ठीकरा इ वी एम पर फोड़ रहे है। एही कारण है की सच बोलने वालो को केजरीवाल अपना बागी समझने लगे है। अजीज अन्ना ने भी केजरीवाल को भला बुरा सुना रहे है। आज बागियों की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है। जरूरत है केज्वल को आत्म  चिंतन की सकारात्मक सोच की काम के बदौलत जनता के विशवास जितने की । अगर समय रहते केजरीवाल नही चेते तो आप की संकट और विकट हो सकती है।

This post was published on मई 7, 2017 13:03

KKN लाइव टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है, खबरों की खबर के लिए यहां क्लिक करके आप हमारे चैनल को सब्सक्राइब कर सकते हैं।

Show comments
Published by
राज कि‍शाेर प्रसाद

Recent Posts

  • Videos

स्वामी विवेकानन्द का नाइन इलेवन से क्या है रिश्ता

ग्यारह सितम्बर... जिसको आधुनिक भाषा में  नाइन इलेवन कहा जाता है। इस शब्द को सुनते… Read More

जुलाई 3, 2022
  • Videos

एक योद्धा जो भारत के लिए लड़ा और भारत के खिलाफ भी

एक सिपाही, जो गुलाम भारत में अंग्रेजों के लिए लड़ा। आजाद भारत में भारत के… Read More

जून 19, 2022
  • Bihar

सेना के अग्निपथ योजना को लेकर क्यों मचा है बवाल

विरोध के लिए संपत्ति को जलाना उचित है KKN न्यूज ब्यूरो। भारत सरकार के अग्निपथ… Read More

जून 18, 2022
  • Videos

कुदरत की रोचक और हैरान करने वाली जानकारी

प्रकृति में इतनी रोमांचक और हैरान कर देने वाली चीजें मौजूद हैं कि उन्हें देख… Read More

जून 15, 2022
  • Society

भाषा की समृद्धि से होता है सभ्यता का निर्माण

भाषा...एक विज्ञान है। यह अत्यंत ही रोचक है। दुनिया में जितनी भी भाषाएं हैं। सभी… Read More

जून 7, 2022
  • Videos

सात राज्यों में माननीय के वेतन का इनकम टैक्स भी सरकारी खजाने से क्यों

आजादी के बाद भारत की राजनीति गरीब और गरीबी के इर्द- गिर्द घूमती रही है।… Read More

जून 5, 2022