गांवों में क्वारंटाइन चक्र पूरा करके घर लौटने लगे प्रवासी

विधायक मुन्ना यादव

राहत: 47 प्रवासियों की जांच रिपोर्ट नेगेटिव

KKN न्यूज ब्यूरो। बिहार के मीनापुर से रविवार को दो अच्छी खबर आई। पहली ये कि 47 लोगों के कोरोना जांच की रिपोर्ट नेगेटिव आयी है। हालांकि, तीन लोगों की रिपोर्ट आनी अभी बाकी है। दूसरी अच्छी खबर ये है कि 14 रोज के क्वारंटाइन चक्र पूरा कर लोग अब अपने घर जाने लगे हैं। अंचलाधिकारी ज्ञान प्रकाश श्रीवास्तव ने बताया कि रविवार को 67 लोगों के क्वारंटाइन की अवधि पूरी होने के बाद उनके स्वास्थ्य की जांच की गई और डॉक्टर की सलाह पर सभी 67 मजदूरों को उनके घर भेज दिया गया है। हालांकि, घर जाने वाले मजदूरों को सोशल डिस्टेंस का पालन करना होगा।
इस बीच प्रखंड की कई क्वारंटाइन सेंटर से असंतोष की खबरें भी लगातार आ रही हैं। मध्य विद्यालय महदेइयां मठ टोला के क्वारंटाइन सेंटर के शौचालय का टंकी फुल हो गया। ओवरलोड टंकी से लीक करके बदबू देने लगा है। लोगो को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। इससे प्रवासी मजदूरो में अंसतोष हैं। यहां 90 प्रवासी कामगार रह रहे है। इसमें से 60 ने शौचालय को ठीक करने की मांग को लेकर भोजन का बहिष्कार कर दिया है।
प्रवासी मजदूरो के द्वारा भोजन बहिष्कार की सूचना मिलते ही अंचल प्रशासन हरकत में आ गई। अंचलाधिकारी ज्ञान प्रकाश श्रीवास्तव नोडल पदाधिकारी को साथ लेकर क्वारंटाइन सेंटर पहुंच गये और लोगो को समझा कर फिलहाल मामला शांत करा दिया है। इधर, क्वारंटाइन सेंटर के प्रभारी अनील गुप्ता बतातें हैं कि शौचालय की दुर्दशा और पेयजल की कमी को लेकर उन्होंने बीते गुरुवार को ही पत्र लिख कर स्थानीय प्रशासन को अवगत करा दिया था। किंतु, समय रहते कोई सुनने को तैयार नहीं है।
उधर, मेथनापुर मध्य विधालय के क्वारंटाइन सेंटर से भी असंतोष की खबरे लगातार आ रही है। गर्मी से बेहाल मजदूर प्रशासन के खिलाफ गुस्से में है। सेंटर के प्रभारी मो. नवी ने बताया कि रविवार को आठ पंखा मंगाया गया। किंतु, मजदूरों के कड़े प्रतिकार के बीच उसको लगाना मुश्किल हो रहा है। यहां रह रहें 105 प्रवासी मजदूर दो दर्जन पंखा लगाने की मांग पर अड़े हैं। तुर्की मिडिल स्कूल के क्वारंटाइन सेंटर का हाल बुरा है। प्रवासी मजदूरो ने रविवार को स्वयं ही वीडियों बना कर सोशल मीडिया में इसको वायरल बर दिया है। केकेएन लाइव इस वीडियों को प्रमाणित नहीं करता है। किंतु, वीडियो में साफ दिख रहा है कि क्वारंटाइन सेंटर पर कुव्यवस्था का आलम है। चापाकल खराब है। नल से पानी नहीं निकल रहा है और रहने के लिए सुविधा का घोर अभाव है।

 

घोसौत के क्वारंटाइन सेंटर पर भी कमोवेश यहीं हाल है। शनिवार को प्रवासी मजदूरो के हंगामा के बाद पहुंचे विधायक मुन्ना यादव ने अंचलाधिकारी को मौके पर बुला कर फटकार लगाई और तत्काल व्यवस्था को ठीक करने को कहा। इसके बाद गुस्साए मजदूर शांत हो गये। मुजफ्फरपुर जिला के मीनापुर प्रखंड में इसी प्रकार करीब 40 क्वारंटाइन सेंटर पर रहने वाले 2,383 प्रवासी मजदूरों में भोजन, पानी और अन्य सुविधओं के लिए प्रशासन के प्रति असंतोष गहराने लगा है। दूसरी ओर अंचलाधिकारी ज्ञान प्रकाश श्रीवास्तव व्यवस्था के दुरुस्त होने का दावा करतें हैं।

KKN लाइव टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है, खबरों की खबर के लिए यहां क्लिक करके आप हमारे चैनल को सब्सक्राइब कर सकते हैं।

हमारे एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। हमारे सभी खबरों का अपडेट अपने फ़ेसबुक फ़ीड पर पाने  के लिए आप हमारे फ़ेसबुक पेज को लाइक कर सकते हैं, आप हमे  ट्विटर और इंस्टाग्राम पर भी फॉलो कर सकते हैं। वीडियो का नोटिफिकेशन आपको तुरंत मिल जाए इसके लिये आप यहां क्लिक करके हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *