Categories: National Sports

गेंदबाजो के प्रयास पर बल्लेबाजो ने फेरा पानी, दिल्ली हारा

संतोष कुमार गुप्ता

​गेंदबाजो के शानदार प्रयास के वावजूद दिल्ली की टीम रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू से हार गयी। अच्छी पिच पर सामने वाली टीम को 157 पर रोक देने का मतलब आधी जंग जीत लेने जैसा था। दिल्ली डेयरडेविल्स ने वो किया। पहले चार ओवर में 30 के करीब पहुंच जाना जीत की ओर बड़ा कदम था। ये भी दिल्ली डेयरडेविल्स ने किया। किसी भी मैच को जीतने के लिए जरूरी होता है कि कोई एक बल्लेबाज बड़ा स्कोर बनाए और टिककर खेले। वो भी दिल्ली ने किया। पिता का अंतिम संस्कार करके लौटे 20 साल के ऋषभ पंत ने अर्ध शतक जमाया। लेकिन ये भी जरूरी होता है कि दूसरे छोर से भी कोई रन न बनाए। वो दिल्ली डेयरडेविल्स ने नहीं किया। रॉयल चैलेंजर्स को एक के बाद एक विकेट मिलते रहे। आखिर में 20 ओवर खत्म हुए तो दिल्ली टीम लक्ष्य से 15 रन पीछे रह गई थी। इसमें भी दिल्ली ने नौ विकेट खो दिए थे।

रॉयल चैलेंजर्स बैगलोर अपने घर में पहला और आईपीएल 10 का दूसरा मैच खेल रही थी। हार से शुरुआत करने के बाद उसे उम्मीद थी कि एबी डिविलियर्स और विराट कोहली की गैर मौजूदगी के बावजूद टीम जीत जाएगी। मैच के ज्यादातर हिस्से में ऐसा होता नहीं दिख रहा था। लेकिन कप्तान शेन वॉटसन की कप्तानी में आरसीबी के गेंदबाजों ने अपना काम सही तरीके से किया। दिल्ली के बल्लेबाजों ने लापरवाही में विकेट खोकर उनका काम आसान किया।
इससे पहले दिल्ली टीम ने कसी गेंदबाजी की। टॉस जीतकर बैटिंग करने उतरी चैलेंजर्स टीम अपने घरेलू मैदान चिन्नास्वामी स्टेडियम में आठ विकेट पर 157 रन ही बना सकी। चैलेंजर्स के लिए इस स्कोर में केदार जाधव (69) का योगदान अहम रहा। उन्होंने कठिन समय पर तूफानी पारी खेली और 37 गेंदों का सामना करते हुए पांच छक्कों के साथ इतने ही चौके लगाए।

बैंगलोर की सलामी जोड़ी क्रिस गेल (6) और कप्तान शेन वॉटसन (24) को दिल्ली के गेंदबाजों ने हाथ खोलने का भी मौका नहीं दिया। मंदीप सिंह (12) कुछ खास नहीं कर सके और पैट कमिंस की गेंद पर बोल्ड होकर पवेलियन लौट गए। एक छोर पर खड़े कप्तान की पारी का अंत शाहबाज नदीम ने किया। चैलेंजर्स ने अपने तीन विकेट 55 रनों पर ही गंवा दिए थे।

इसके बाद जाधव ने टीम को संभालने का बीड़ा उठाया और बिना दबाव के बड़े शॉट खेलते रहे। उन्होंने 14वें ओवर की चौथी गेंद पर अपना अर्धशतक पूरा किया जिसके लिए उन्होंने महज 26 गेंदों का सामना किया।

दिल्ली के लिए मौरिस सबसे सफल गेंदबाज रहे। उन्होंने अपने कोटे के चार ओवरों में सिर्फ 21 रन दिए और तीन विकेट लिए। नदीम ने चार ओवरों में 13 रन देकर एक विकेट लिया. जहीर को दो विकेट मिले।

This post was published on अप्रैल 9, 2017 10:57

KKN लाइव टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है, खबरों की खबर के लिए यहां क्लिक करके आप हमारे चैनल को सब्सक्राइब कर सकते हैं।

Show comments
Published by
संतोष कुमार गुप्‍ता

Recent Posts

  • Videos

स्वामी विवेकानन्द का नाइन इलेवन से क्या है रिश्ता

ग्यारह सितम्बर... जिसको आधुनिक भाषा में  नाइन इलेवन कहा जाता है। इस शब्द को सुनते… Read More

जुलाई 3, 2022
  • Videos

एक योद्धा जो भारत के लिए लड़ा और भारत के खिलाफ भी

एक सिपाही, जो गुलाम भारत में अंग्रेजों के लिए लड़ा। आजाद भारत में भारत के… Read More

जून 19, 2022
  • Bihar

सेना के अग्निपथ योजना को लेकर क्यों मचा है बवाल

विरोध के लिए संपत्ति को जलाना उचित है KKN न्यूज ब्यूरो। भारत सरकार के अग्निपथ… Read More

जून 18, 2022
  • Videos

कुदरत की रोचक और हैरान करने वाली जानकारी

प्रकृति में इतनी रोमांचक और हैरान कर देने वाली चीजें मौजूद हैं कि उन्हें देख… Read More

जून 15, 2022
  • Society

भाषा की समृद्धि से होता है सभ्यता का निर्माण

भाषा...एक विज्ञान है। यह अत्यंत ही रोचक है। दुनिया में जितनी भी भाषाएं हैं। सभी… Read More

जून 7, 2022
  • Videos

सात राज्यों में माननीय के वेतन का इनकम टैक्स भी सरकारी खजाने से क्यों

आजादी के बाद भारत की राजनीति गरीब और गरीबी के इर्द- गिर्द घूमती रही है।… Read More

जून 5, 2022