पाक ने किया जाधव के मां और पत्नी का अपमान

पाक सरकार जाधव की पत्नी को भी जासूस साबित करने पर तुला

पाकिस्तान। जाधव की पत्नी और मां का मंगलसूत्र, चूड़िया और बिदीं उतरवाई गई और जाधव के सामने उन दोनों को विधवा की तरह पेश करके पाकिस्तान ने अन्तर्राष्ट्रीय कूटनीति को धत्ता बता दिया। इतना ही नही बल्कि, पाकिस्तान अब जाधव की पत्नी को भी जासूस साबित करने पर आमदा हो गया है। बतातें चलें कि पाक जेल में बंद कुलभूषण जाधव से मिलने गई उनकी मां और पत्नी के साथ पाक सरकार के अधिकारी और वहा की मीडिया ने जो सलूक किए, उससे भारतीय नारी खुद का अपमान समझ कर गुस्से में है। भारत सरकार भी स्तब्ध है।
राज्यसभा में जाधव के मुद्दे पर सदन में बोलते हुए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि पाकिस्तान इससे ज्यादा शर्मनाक और कुछ नहीं कर सकता है। उन्होंने कहा कि इस बारे में हमने राजनयिक स्तर पर कड़ी आपत्ति जताई है। उन्होंने कहा कि हमने कल ही पाकिस्तान को इस बारे में नोट भेजा है। सुषमा ने कहा कि मुलाकात के वक्त जाधव काफी दबाव में थे। उन्होंने कहा कि जूती में जिस चिप की बात पाकिस्तान कर रहा है वह बेबुनियाद है। जूते के जरिए जासूसी का आरोप पूरी तरह से गलत है। विदेशमंत्री ने कहा कि परिवार तक मीडिया को पहुंचने की इजाजत नहीं थी।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने राज्यसभा में बोलते हुए इसे देश की हर मां और बहन का अपमान करार दिया। इससे पहले बुधवार को कुलभूषण जाधव की अपनी पत्नी और मां से इस्लामाबाद में हुई मुलाकात के दौरान पाकिस्तान द्वारा लगाई गई पाबंदियों को लेकर आज यहां उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू सहित विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं ने पाकिस्तान की निंदा की। वहीं, सपा के एक नेता ने यह कह कर एक विवाद छेड़ दिया कि पाकिस्तान कुलभूषण जाधव को आतंकी मानता है और वह उनके साथ उसी हिसाब से व्यवहार कर रहा है।
विहिप नेता प्रवीण तोगड़िया ने कहा कि जाधव की मां और पत्नी को पाकिस्तानी अधिकारियों द्वारा प्रताड़ित करना भारत की 50 करोड़ महिलाओं का अपमान है। जाधव के मित्र तुलसी दास पवार ने कहा, ”पाकिस्तानी अधिकारी कांच की दीवार के पार मुलाकात से पहले कुलभूषण की पत्नी से मंगलसूत्र और चूड़ियां कैसे उतरवा सकते हैं। उन्होंने जाधव के परिवार के साथ अपमानजनक बर्ताव करने के लिए भारत से मुहतोड़ जवाब देने को कहा। साथ ही उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पाकिस्तान के साथ कड़ाई से पेश आना चाहिए।