जिन्दगी की जंग में बाकी है उम्मीदो की सांसे…

Featured Video Play Icon

उसे आपके मदद की दरकार है। अपनो से अपनेपन की दरकार है और उसके जीवन को सांस की दरकार है। क्योंकि, वह लड़ रहा है, जिन्दगी की आखरी जंग और अभी बाकी है, उसके उम्मीदो की सांसे। KKN लाइव के ‘इनसे मिलिए’ सेगमेंट में आज हम जिस इंसान से आपको रुबरु करा रहें हैं। वह इसलिए नहीं, कि वह गरीब है और सरकार के द्वारा दी गई आवास के अतरिक्त उसके पास कुछ नहीं है। इसलिए भी नहीं, कि वह जन्म से बिकलांग है और एक मात्र पान की दुकान से अपनी जीविका चलाता है। बल्कि इसलिए, कि वह जिन्दगी को जीने की जंग लड़ रहा है। दरअसल, वह ‘HIV’ रोग से पीड़ित है और खुद ही अपने जुबान से बता रहा है अपना दर्द। आज आप उसी के जुबान से सुनिए स्वास्थ्य विभाग की हकीकत और नियम की आर में गुम होती, जरुरतमंदो की दर्द। समाज की दकियानुसी सोच  के बीच, तील-तील कर घुट रहें उस इंसान का नाम, पता या चेहरा सार्वजनिक नहीं किया है। किंतु, आपमें से कोई भी यदि उसकी मदद करना चाहें, तो आप उनके मोबाइल नम्बर 9471473442 पर कॉल करके सीधे उन तक पहुंच सकतें हैं। क्योंकि, उसको आपके मदद की दरकार है।