Videos

Uchchaith में आज भी मौजूद है Kalidasa के होने का प्रमाण

बिहार की सांस्कृतिक राजधानी कहलाने वाली मधुबनी जिला के बेनीपट्टी में मां काली का एक सिद्धपीठ है। इसको Uchchaith भगवती या महाकाली के नाम से जाना जाता है। 17वें शक्तिपीठ के रूप में इसका पौराणणिक महत्व है। प्रचलित कथाओं में यही वह स्थान है जहां महान कवि कालिदास को माता के वरदान से ज्ञान प्राप्त हुआ था। प्राचीन काल में उच्चैठ का यही स्थान राजा जनक की यज्ञ भूमि हुआ करता था। महर्षि कपिल, कणाद, गौतम, जेमिनी, विभाण्डक, पुण्डरीक, श्रृंग, लोमस, पिपलाद, याज्ञवल्क्व और सतानंद जैसे ऋषियों की यह तपोभूमि रही है। आदि शंकराचार्य भी उच्चैठ में साधना कर चुके है। आधुनिक काल में महाकवि विद्यापति और गोनू झा ने ज्ञान की प्रात्ति के लिए उच्चैठ में साधना की थी।

This post was published on अप्रैल 3, 2022 15:30

KKN लाइव टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है, खबरों की खबर के लिए यहां क्लिक करके आप हमारे चैनल को सब्सक्राइब कर सकते हैं।

Show comments
Published by
KKN News Desk

Recent Posts

  • KKN Special

इलाहाबाद क्यों गये थे चन्द्रशेखर आजाद

KKN न्यूज ब्यूरो। बात वर्ष 1920 की है। अंग्रेजो के खिलाफ सड़क पर खुलेआम प्रदर्शन… Read More

जुलाई 23, 2022
  • Videos

स्वामी विवेकानन्द का नाइन इलेवन से क्या है रिश्ता

ग्यारह सितम्बर... जिसको आधुनिक भाषा में  नाइन इलेवन कहा जाता है। इस शब्द को सुनते… Read More

जुलाई 3, 2022
  • Videos

एक योद्धा जो भारत के लिए लड़ा और भारत के खिलाफ भी

एक सिपाही, जो गुलाम भारत में अंग्रेजों के लिए लड़ा। आजाद भारत में भारत के… Read More

जून 19, 2022
  • Bihar

सेना के अग्निपथ योजना को लेकर क्यों मचा है बवाल

विरोध के लिए संपत्ति को जलाना उचित है KKN न्यूज ब्यूरो। भारत सरकार के अग्निपथ… Read More

जून 18, 2022
  • Videos

कुदरत की रोचक और हैरान करने वाली जानकारी

प्रकृति में इतनी रोमांचक और हैरान कर देने वाली चीजें मौजूद हैं कि उन्हें देख… Read More

जून 15, 2022
  • Society

भाषा की समृद्धि से होता है सभ्यता का निर्माण

भाषा...एक विज्ञान है। यह अत्यंत ही रोचक है। दुनिया में जितनी भी भाषाएं हैं। सभी… Read More

जून 7, 2022