Uttar Pradesh

पीएम मोदी को भेज दिया 56 इंच का चोली

सैनिक की पत्नी ने तोहफे मे भेजी चोली और चिट्ठी

संतोष कुमार गुप्ता

फतेहाबाद। सीमा पर शहीद होने वाले देश के जाबांज सैनिक को लेकर अब लोगो का सब्र जबाब देने लगा है।रिटायर सैनिक की अर्धागिंनी ने पीएम से ताबड़तोड़ सवाल पूछे है।पीएम बनने से पहले बड़ी बड़ी बाते करते थे।अब तो आपके कंधे पर पुरा देश की जिम्मेदारी है अब क्या हुआ आपको।उसको पीएम नरेंद्र मोदी से काफी उम्मीदें थी। एक सैनिक की पत्नी की ओर से आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक चिट्‌ठी और एक चोली भेजी गई है। सैनिक की पत्नी ने लैटर में पीएम को अपने 56 इंच के सीने पर चोली पहनने और सेना के जवानों के हाथों को खोलने की अपील की गई है। सैनिक की पत्नी सुमन रानी ने आज अपने रिटायर्ड फौजी पति धर्मबीर के साथ जिला सैनिक बोर्ड पहुंची और वहां पर पीएम के नाम एक चोली और एक लेटर भेजा। जिसमें पीएम को चुनाव से पहले उनके 56 इंच के सीने की बात को याद दिलाया गया है।
सैनिक की पत्नी ने पीएम को जो पत्र भेजा है, उसमें कहा है कि पहले सैनिक के शहीद होने की बात से उनके परिवार का सिर गर्व से ऊंचा हो जाता था, लेकिन अब यह डर रहता है कि वहां कश्मीर में कोई लात मरेगा कोई पथ्थर मारेगा या सिर काट कर ले जायेगा।
लैटर में लिखा है कि पिछले दिनों कुछ वीडियो और खबरों में सैनिकों को कुछेक आतंकियों द्वारा बेइज्जत किया जा रहा है। लातें मारी जा रही हैं, पत्थर मारे जा रहे हैं ,सैनिकों के सिर तक काट कर ले गए। गोलियों से शहीद होते तो कोई दिक्कत नहीं, इस तरह सैनिकों के हाथ बंधे हुए हैं, वो सब कुछ कर सकने की स्थिति में भी कुछ नहीं कर सके, ये अपने आप में बहुत बड़ी शर्म की बात है।
सरकार बनने से पहले तो की थी बड़ी बड़ी बातें और अब….
सुमन रानी ने कहा- बीजेपी की सरकार बनने से पहले प्रधानमंत्रीजी आपने बड़ी बड़ी बातें की थीं कि एक के बदले 10 सिर काट कर लाने चाहिये। प्रेम पत्र नहीं लिखना चाहिए, दुश्मन को उसी की भाषा में जबाब देना चाहिए। इन्हीं बातों से प्रभावित होकर देश की जनता ने बहुमत से सरकार बना दी, तब लगा कि देश के दुश्मनों को तो सबक सिखाया जा सकेगा। अब कोई हेमराज की तरह शहीद नहीं होगा। दुश्मन ऐसा करने की सोच भी नहीं सकेगा। लेकिन ऐसे हादसे कई बार हो गए और प्रधानमंत्री जी दुश्मनों को कभी शाॅल भेंट कर रहे हो कभी उनके साथ चाय पीने और बधाई देने चले जाते हो ऐसी शर्मनाक घटना होने पर वही पहले वाली सरकार की तरह कड़े शब्दों में निन्दा,सख्त धमकी,ओर बातो बातो में करारा जबाब दे देते हो। सैनिकों के हाथ बंधे लग रहे हैं।

This post was published on मई 11, 2017 20:03

KKN लाइव टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है, खबरों की खबर के लिए यहां क्लिक करके आप हमारे चैनल को सब्सक्राइब कर सकते हैं।

Show comments
Published by
संतोष कुमार गुप्‍ता

Recent Posts

  • KKN Special

इलाहाबाद क्यों गये थे चन्द्रशेखर आजाद

KKN न्यूज ब्यूरो। बात वर्ष 1920 की है। अंग्रेजो के खिलाफ सड़क पर खुलेआम प्रदर्शन… Read More

जुलाई 23, 2022
  • Videos

स्वामी विवेकानन्द का नाइन इलेवन से क्या है रिश्ता

ग्यारह सितम्बर... जिसको आधुनिक भाषा में  नाइन इलेवन कहा जाता है। इस शब्द को सुनते… Read More

जुलाई 3, 2022
  • Videos

एक योद्धा जो भारत के लिए लड़ा और भारत के खिलाफ भी

एक सिपाही, जो गुलाम भारत में अंग्रेजों के लिए लड़ा। आजाद भारत में भारत के… Read More

जून 19, 2022
  • Bihar

सेना के अग्निपथ योजना को लेकर क्यों मचा है बवाल

विरोध के लिए संपत्ति को जलाना उचित है KKN न्यूज ब्यूरो। भारत सरकार के अग्निपथ… Read More

जून 18, 2022
  • Videos

कुदरत की रोचक और हैरान करने वाली जानकारी

प्रकृति में इतनी रोमांचक और हैरान कर देने वाली चीजें मौजूद हैं कि उन्हें देख… Read More

जून 15, 2022
  • Society

भाषा की समृद्धि से होता है सभ्यता का निर्माण

भाषा...एक विज्ञान है। यह अत्यंत ही रोचक है। दुनिया में जितनी भी भाषाएं हैं। सभी… Read More

जून 7, 2022