भूख और प्यास से तड़प रहे हैं बाढ़ से विस्थापित हुए लोग

मीनापुर में छलावा साबित हुआ सरकारी मदद का दावा कौशलेन्द्र झा मीनापुर प्रखंड मुख्यालय से करीब सात किलोमिटर दूर ब्रहण्डा गांव की रेहाना खातुन का चापाकल बाढ़ की पानी में पूरी तरीके से डूब चुका […]