​इंसास लूट: 25 ज्ञात व 100 अज्ञात पर प्राथमिकी

मुजफ्फरपुर के मीनापुर का है मामला

संतोष कुमार गुप्ता

मुजफ्फरपुर। मुजफ्फरपुर जिले के मीनापुर थाना के तुर्की के शनिचरा स्थान चौक पर अपहर्ता को दबोचने के लिए हुए पुलिस पब्लिक झड़प के बाद मामले मे प्राथमिकी दर्ज कर लिया गया। पुलिस इंस्पेक्टर संजय कुमार के ब्यान पर 25 से अधिक नामजद व सौ से अधिक अज्ञात लोगो पर प्राथमिकी दर्ज की  गयी है।
मामले में कई अहम खुलासा हुआ है। बहरहाल उपद्रव फैलाने के आरोप में बरामद अपह्रत विक्की के पिता सकिंद्र साह को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है।  सकिंदर पर आरोप है की उनका पुत्र दस दिन पहले बरामद हो गया था। बावजूद स्थानिय व बाहरी रिश्तेदारो के साथ वह उपद्रव करने लगा। उसके उपद्रव के कारण ही बवाल बढ़ा।
पुलिस इंस्पेक्टर संजय कुमार ने बताया कि विक्की के पिता अपने गांव हरपुर बक्स, मिल्की, खुटौना व कांटी से काफी संख्या में लोगो को लेकर आये थे। उन्होने ही लोगो को उकसाया। जिसके कारण बवाल हुआ।  साथ ही बरामद इंसास रायफल के साथ गिरफ्तार हरका मानशाही के रौशन व नीतीन शाही से पुलिस लगातार पुछताछ कर रही है। बताया जाता है कि भीड़ का नाजायज फायदा उठाकर दोनो ने पुलिस की रायफल छिनी। चर्चा यह भी है कि दोनो अक्सर आसपास के ताड़ी के दुकानो पर देखे जाते थे।
जानकार बतातें हैं कि जब हंगामा होने लगा तो दोनो वहां घुसकर पुलिस की रायफल छीन ली। इस दौरान पुलिस इंस्पेक्टर संजय कुमार सहित चार सैप के जवान जख्मी हुए। इतना ही नही, बल्कि, उपद्रवी ग्राम पंचायत का कार्यालय का ताला तोड़कर अपहर्ता को अपने हवाले करने की मांग कर रहे थे।
दबोचे गये अपहर्ता सुरेश साह से गुरूवार को पुलिस ने पूछताछ की। साथ ही कांटी चौक से अगवा विक्की के बरामदगी के बाद भी कांटी पुलिस गुरूवार को मीनापुर थाना पहुंच कर विक्की के नाना मोहन साह से पूछताछ की।
इस बीच कांटी थाना में विक्की के अपहरण के आरोप में अपहर्ता सुरेश साह पर प्राथमिकी दर्ज की गयी है। जबकि, बरामद दुसरे अपह्रत गुफरान मंसूरी से पूछताछ के लिए सीतामढी पुलिस भी पहुंच चुकी है।  सीतामढी के कन्हौली थाना में गुफरान के अपहरण की प्राथमिकी दर्ज की गयी है। इंसास बरामदगी के बाद डीएसपी सहित कई थानो की पुलिस बुधवार की रात डेढ बजे में शनिचरा स्थान से लौटी। ड्रेगन लाइट की रौशनी में चप्पा चप्पा छाना गया । हालांकि, इंसास का एक जिंदा कारतूस मिलने की आज भी चर्चा है। किंतु पुलिस इससे इंकार कर रही है। बतातें चले कि अपहर्ता रून्नीसैदपुर थाना क्षेत्र के तिलक ताजपुर के रमनगरा गांव के सुरेश साह पहले भी दो बार जेल जा चुका है।