क्रिकेट विश्व कप मैच में भारत ने पाक को हराया

लगातार सात बार हारी पाकिस्तान

मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड स्टेडियम में खेले गए विश्व कप 2019 के सबसे चर्चित मुकाबले में भारत ने अपने चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को 89 रनों से हरा दिया। इसके साथ ही भारत ने विश्व कप में लगातार सात बार पाकिस्तान को हराने का रिकार्ड भी बनाया। गौरतलब है कि भारत और पाकिस्तान के बीच क्रिकेट विश्व कप इतिहास का यह 7वां मुकाबला था, जिसमें भारत ने बाजी मारी। इससे पहले खेले गए 6 मुकाबलों में भी भारत ने ही जीत दर्ज की थी।

टॉस जीत कर पाक ने की गेंदबाजी

मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड स्टेडियम में पाकिस्तान ने टॉस जीतकर भारत को बल्लेबाजी का न्योता दिया था और भारत ने निर्धारित 50 ओवरों में 5 विकेट पर 336 रनों का विशाल स्कोर खड़ा कर दिया। पाकिस्तान की टीम 40 ओवरों में 6 विकेट पर 212 रन ही बना सकी और डकवर्थ लुईस नियम के तहत पाकिस्तान की टीम इस मौच को 89 रनों से हार गई।

भारत की दमदार शुरुआत

आसमान में बादल छाए होने के बावजूद रोहित शर्मा और केएल राहुल की सलामी जोड़ी ने शानदार शुरुआत की। इन दोनों ने पहले विकेट के लिए 23.5 ओवरों में 136 रन जोड़े। केएल राहुल 57 रन बनाकर वहाब रियाज की गेंद पर विकेटकीपर सरफराज अहमद द्वारा लपके गए। रोहित शर्मा ने अपना शानदार फॉर्म जारी रखते हुए 140 रनों की शतकीय पारी खेली। विराट कोहली ने भी 77 रन बनाए। इस तरह भारत ने निर्धारित 50 ओवरों में 5 विकेट पर 336 रनों का विशाल स्कोर बनाया। पाकिस्तान के लिए मोहम्मद आमिर सबसे सफल गेंदबाज रहे। उन्होंने 10 ओवर में 1 मेडन रखते हुए 47 दन देकर 3 विकेट झटके।

बारिश ने डाला खलल

भारत की पारी के 47वें ओवर में बारिश ने खलल डाला। लेकिन लभगभ आधे घंटे में मैच फिर से शुरू हो गया। इसके जवाब में पाकिस्तान ने सिर्फ 13 रन के स्कोर पर अपना पहला विकेट गंवा दिया। इमाम उल हक को विजय शंकर ने पगबाधा आउट कर पाकिस्तान के पहले विकेट का पतन किया। दरअसल, पाकिस्तान की पारी का 5वां ओवर भुवनेश्वर कुमार कर रहे थे। इस ओवर में चौथे गेंद डालने के बाद भुवनेश्वर के बाए पैर की है​मस्ट्रिंग में खिंचाव आ गया। जिसके कारण उन्हें मैदान छोड़ना पड़ा और वह वापस नहीं लौट सके। उनके ओवर की बची हुई दो गेंदें डालने के लिए विजय शंकर आए और पहली ही गेंद पर इमाम को चलता कर दिया।

फखर और बाबर पर पाकिस्तान की उम्मीद

इसके बाद फखर जमां ने बाबर आजम के साथ मिलकर दूसरे विकेट के लिए 104 रनों की शतकीय साझेदारी की। खतरनाक होती इस साझेदारी को कुलदीप यादव ने तोड़ा। उन्होंने एक शानदार गेंद पर बाबर आजम की गिल्लियां बिखेर दी। बाबर आजम ने 48 रन बनाए। इस साझेदारी के टूटते ही पाकिस्तान का बल्लेबाजी क्रम ढहने लगा। कुलदीप ने आंखें जमा चुके फखर जमां को युजवेंद्र चहल के हाथों कैच कराकर पाकिस्तान को तीसरा झटका दिया। फखर 62 रन बनाकर पवेलियन लौटे। हार्दिक पांड्या ने 27वें ओवर की आखिरी दो गेंदों पर लगातार मोहम्मद हफीज और शोएब मलिक को पवेलियन लौटाकर मैच में पाकिस्तान की उम्मीदें धुमिल कर दी। हफीज 9 और मलिक बिना खाता खोले पवेलियन लौट गये।

कुलदीप और पांड्या ने पाक की उम्मीदों तोड़ दी

विजय शंकर ने कप्तान सरफराज अहमद को 12 रन के निजी स्कोर पर क्लीन बोल्ड कर पाकिस्तान के छठे विकेट का पतन किया। जब पाकिस्तान का स्कोर 35 ओवर में 6 विकेट पर 166 रन था तभी बारिश ने मैच में खलल डाला। इसके चलते लगभग 1 घंटे से ज्यादा का खेल रुका रहा। बारिश रुकने पर अंपायरों ने पाकिस्तान के सामने संशोधित लक्ष्य रखा। जिसके अंर्तगत मैच को 50 से घटाकर 40 ओवर का कर दिया गया और लक्ष्य 337 से घटाकर 302 रन कर दिया गया। इस तरह मैच दोबारा शुरू हुआ तो पाकिस्तान को 30 गेंदों में जीत के लिए 136 रन बनाने थे। लेकिन पाकिस्तान की टीम 40 ओवरों में 6 विकेट पर 212 रन ही बना सकी और मैच डकवर्थ लुईस नियम के तहत 89 रनों से हार गई। रोहित शर्मा को उनकी बेहतरीन शतकीय पारी के लिए ‘मैन ऑफ द मैच’ चुना गया।

टीम में शामिल थे खिलाड़ी

भारत की ओर से रोहित शर्मा, केएल राहुल, विराट कोहली (कप्तान), विजय शंकर, महेंद्र सिंह धौनी, हार्दिक पांड्या, केदार जाधव, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल टीम में शामिल थे।
वहीं, पाकिस्तान की ओर से इमाम उल हक, फखर जमां, बाबर आजम, मोहम्मद हफीज, सरफराज अहमद (कप्तान), शोएब मलिक, इमाद वसीम, हसन अली, वहाब रियाज, मोहम्मद आमिर, शादाब खान टीम का हिस्सा थे।