मोदी के मंत्री सारंगी के पास ना घर है और नाही मोबाइल

साइकिल से प्रचार करके जीते चुनाव

ओडिशा की बालासोर लोकसभा सीट से चुनाव जीतकर आए प्रताप चंद्र सारंगी लोकतंत्र का चेहरा बन गएं हैं। श्री सारंगी बेहद ही गरीब है। आलम ये है कि उनके पास अपना घर नहीं है। एक अदद मोबाइल नहीं है। साइकिल से घूम-घूम कर प्रचार किया और चुनाव जीत कर मोदी सरकार में राज्यमंत्री बनतें ही लाइम लाइट में आ गएं हैं। एकदम साधारण वेशभूषा और सामान्य जनजीवन वाले प्रताप सारंगी चुनाव जीतने के बाद से ही काफी चर्चा बटोर रहे हैं। प्रताप चंद्र सारंगी जो बालासोर से भारतीय जनता पार्टी के नवनिर्वाचित सांसद है। उन्हें ओडिशा का मोदी भी कहा जाता है। बताया जाता है कि मोदी जब भी ओडिशा आते हैं तो सारंगी से मुलाकात जरूर करते हैं।

झोपड़ी के घर में रहतें हैं माननीय

ओडिशा में मोदी के नाम से प्रख्यात प्रताप चंद सारंगी का अपने इलाके ओडिशा के बालासोर लोकसभा सीट पर जबरदस्त पकड़ है। प्रतापचन्द्र सारंगी आज भी झोपड़ी के बने एक बेहद ही छोटे से घर में रहते है। कहतें हैं कि 17वीं लोकसभा में प्रताप चंद सारंगी सबसे गरीब और आर्थिक रुप से कमजोर सांसद हैं। जिनके पास मोबाइल नहीं है। झोपडी में निवास है। ग्राम पंचायत के हैंडपंप पर स्नान करते हैं। गौर करने वाली बात ये है कि उन्होंने अरबपति उम्मीदवार रविंद्र कुमार जेना को 12 हजार 956 वोट से हारा कर चुनाव जीता हैं। इन्होंने पूरा प्रचार साइकिल से किया।

गरीबी के कारण नहीं हुई विवाह

सारंगी कई सालों से समाजसेवा में लगे हैं। गरीबी के कारण उन्होंने शादी नहीं की है। वो रामकृष्ण मठ में साधु बनना चाहते थे। इसके लिए वो कई बार मठ भी गए थे। लेकिन जब मठ वालों को पता लगा कि उनके पिता नहीं है और उनकी मां अकेली हैं, तो मठ वालों ने उन्हें मां की सेवा करने को कहा। पिछले साल उनकी मां का देहांत हो गया है।