बाढ़ पीड़ितों के साथ छलावा कर रही सरकार: विधायक

मीनापुर में दस सूत्री मांगों को लेकर राजद कार्यकर्ताओं ने दिया धरना

मीनापुर। राजद ने शनिवार को प्रखंड मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन किया। बाढ़ पीड़ितों की समस्या को लेकर हुई धरना सभा में विधायक मुन्ना यादव ने सरकार पर पीड़ितों के साथ छलावा करने का आरोप लगाया। साथ ही कहा कि जब तक मीनापुर के 90 फीसदी बाढ़ पीड़ितों को राहत नहीं मिल जाता है, आंदोलन जारी रहेगा।
विधायक ने कहा कि सरकार ने दो सितम्बर तक नकद मुआवजा देने का ऐलान किया था। लेकिन, आज तक एक-चौथाई लोगों को भी इसका लाभ नहीं मिला है। बाढ़ पीड़ित, विशेषकर वैसे लोग जिनका घर गिर गया है, उनके चयन में कर्मचारी अवैध वसूली कर रहे हैं। यही नहीं, टूटी सड़क व पुलिया आदि की मरम्मत के लिए अभी तक ठोस पहल नहीं की गई है। फसल क्षति का भी आकलन नहीं हुआ है। विधायक ने इसको लेकर संघर्ष करने का ऐलान किया।
इससे पहले पार्टी ने 10 सूत्री मांग पत्र प्रभारी बीडीओ के माध्यम से सरकार को भेजा। इसमें प्रखंड को पूर्ण बाढ़ ग्रस्त घोषित करने, वंचित परिवार का नाम सूची में डालने, फसल क्षति का मुआवजा, कृषि ऋण माफी, पशुचारा का आवंटन देने, अनुदानित बीज व फूड पैकेट मुहैया कराने, वृद्धा पेंशन का भुगतान, क्षतिग्रस्त मकान के सर्वे में हो रही अवैध वसूली बंद करने, क्षतिग्रस्त बिजली पोल की शीघ्र मरम्मत व संक्रमण से बचाव के लिए ब्लीचिंग का छिड़काव सुनिश्चित करना शामिल है।
उमाशंकर सहनी की अध्यक्षता में हुई सभा को सच्चिदानंद कुशवाहा, रमेश यादव, अहमद अंसारी, रामचंद्र राय, रामअनंदी राय, उमेश राय, अवध बिहारी गुप्ता, प्रेमलाल राय, मुस्तफा राही, विलाश सहनी, मोइम अंसारी, बिक्रांत यादव, सोनफी यादव, राजगीर राम व जवाहर राम आदि ने भी संबोधित किया।