महापुरूषो की जयंती पर नही होगा अवकाश

​युपी के सीएम आदित्यनाथ योगी का बड़ा फैसला

जयंती पर होगा परिचर्चा,निबंध प्रतियोगिता,व भाषण

संतोष कुमार गुप्ता

यूपी मे आदित्यनाथ योगी की सरकार ने कुछ नये नियम बनाये है। महापुरूषो की जयंती व पुण्यतिथि पर स्कूली शिक्षक व बच्चे चैन की वंशी नही बजायेंगे। बल्कि उन्हे विधालय मे ही रह कर ही कार्यक्रम का आयोजन करना होगा। उत्तर प्रदेश सरकार ने मंगलवार (25 अप्रैल) को तय किया कि महापुरूषों के जन्मदिन या पुण्यतिथि पर सार्वजनिक अवकाश नहीं होगा बल्कि उस दिन छात्रों को ऐसे महापुरूषों के बारे में शिक्षित किया जाएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई राज्य मंत्रिपरिषद की बैठक में यह फैसला किया गया। बैठक के बाद उर्च्च्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘कैबिनेट ने महान हस्तियों की जयंती अथवा पुण्यतिथि पर होने वाले 15 सार्वजनिक अवकाश रद्द कर दिये हैं। उस दिन चर्चा, परिचर्चा, निबंध प्रतियोगिता आदि कार्यक्रमों के जरिए छात्रों को महान हस्तियों के बारे में शिक्षित किया जाएगा।’’

अंबेडकर जयंती पर योगी ने ऐसे अवकाशों की वजह से शैक्षिक सत्र की अवधि कम होने पर चिन्ता व्यक्त की थी। योगी ने कहा था कि महापुरूषों की जयंती पर स्कूलों में अवकाश नहीं होना चाहिए बल्कि दो घंटे का विशेष कार्यक्रम कर बच्चों को ऐसे महापुरूषों के बारे में शिक्षित करना चाहिए।

उत्तर प्रदेश में 42 सार्वजनिक अवकाश हैं, जिनमें से कम से कम 17 अवकाश महापुरूषों की जयंती अथवा पुण्यतिथि पर दिये जाते हैं। शर्मा ने कहा कि अवकाश की संशोधित सूची जल्द ही उपलब्ध करा दी जाएगी।