मुखिया संघ ने मीनापुर थानाध्यक्ष पर धमकी देने का लगाया आरोप

एसएसपी ने डीएसपी पूर्वी को दिया जांच का आदेश

मुजफ्फरपुर। मीनापुर में बाल विवाह व दहेज प्रथा की रोकथाम के लिए प्रखंड मुख्यालय में हुई बैठक के दौरान मुखिया संघ और थाना अध्यक्ष में ठन गयी। इसके बाद संघ ने बैठक का बहिष्कार कर दिया। संघ ने मीनापुर थानाध्यक्ष पर एफआईआर की धमकी देने का आरोप लगाया।
इसके बाद संघ की अध्यक्ष नीलम कुमारी के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल बीडीओ से मिलकर ज्ञापन सौंपा। इसमें थानाध्यक्ष पर कार्रवाई की मांग की गई है। इस बीच एसएसपी ने संघ के प्रतिनिधि की शिकायत पर डीएसपी पूर्वी को पूरे मामले के जांच का आदेश दे दिया है।
नीलम कुमारी के नेतृत्व में बैठक का बहिष्कार करने के बाद मुखिया कृष्ण कुमार, रेणु सिंह, चन्देश्वर प्रसाद, नजबुन निशा, रामप्रीत राम, किशोरी राम, रेखा रानी, ममता देवी आदि ने आरोप लगाया कि थानाध्यक्ष ने बैठक के दौरान मुखिया पति पर एफआईआर दर्ज करने की धमकी दी है।
दूसरी ओर थानाध्यक्ष सोना प्रसाद सिंह ने बताया कि उन्होंने बैठक के दौरान कहा कि बाल विवाह करने वालों की सूचना दें, कार्रवाई की जाएगी। इस दौरान एक मुखिया पति ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए, इस पर उन्हें साक्ष्य देने को कहा गया। इसके बाद सभी मुखिया भड़क गए और बैठक का बहिष्कार कर दिया।

दरअसल, बैठक के दौरान थानाध्यक्ष बाल विवाह होने पर पुलिस को सूचना देने की सभी से आग्रह कर रहे थे। इस बीच हरका पंचायत के मुखिया पति संजीत कुमार शाही ने कहा कि सूचना देने के बाद पुलिस घटना स्थल पर पहुंचती है और रुपये लेकर मामले को रफादफा कर देती है। इसके बाद थानाध्यक्ष ने उनसे आरोप के संबंध में साक्ष्य मांगा। साथ ही कहा कि यदि आप साक्ष्य नही देंगे तो आपके खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाएगी।
इस बीच बीडीओ संजय कुमार सिन्हा ने बताया कि मुखिया संघ ने लिखित शिकायत की है। इसको डीएम के पास भेज दिया जाएगा। वहां से जो भी निर्देश मिलेगा, उसके आलोक में कार्रवाई की होगी।