उम्र के अंतिम पड़ाव पर कैसे आदर्श बनी एक महिला

भारत के राज्य केरल में इन दिनो 96 साल की एक महिला कार्तियायिनी अम्मा चर्चा में है। दरअसल, कार्तियायिनी अम्मा ने वह कर दिखाया है, जो अक्सर लोग कम उम्र में ही कर पाते है। आनंद महिंद्रा ने कार्तियायिनी अम्मा की ताऱीफ करते हुए इन्हें वडंरवुमन बताया है। बहरहाल, सोशल मीडिया पर कार्तियायिनी अम्मा की तस्वीर और कारनामें वायरल होने लगा है।
सबसे उम्र दराज साक्षर महिला बनी
केरल की कार्तियायिनी अम्मा ने साबित कर दिया है कि पढ़ने के कोई उम्र नहीं होती है। कार्तियायिनी अम्मा जिले की सबसे उम्रदराज महिला हैं, जिन्होंने केरल साक्षरता मिशन अक्षरालक्शम स्कीम के तहत चौथी क्लास की परीक्षा पास की है। यही नहीं इससे पहले उन्होंने रीडिंग टेस्ट में भी पूरे मार्क्स लाकर साबित कर दिया है कि मन में यदि जज्बा हो तो कोई भी लक्ष्य मुश्किल नहीं होता।
सोशल मीडिया पर हुआ वायरल
सोशल मीडिया पर इन दिनो कार्तियायिनी अम्मा की तस्वीर खूब शेयर की जा रही है। अम्मा के इस जज्बे को देखते हुए बिजनेस टाइकून महिंद्रा समूह के चेयरमैन आनंद्र महिंद्रा ने इन्हें अपना रोल मॉडल बता दिया है। महिंद्रा ने अपने ट्वीट में लिखा है कि अगर यह सच है तो वह मेरी रोल मॉडल हैं, मैं भी आगे सीखने को लेकर हमेशा ऐसे ही तैयार रहूंगा, जैसा कि इस महिला ने किया।

KKN Live के पेज को फॉलो कर लें और शेयर व लाइक भी जरुर करें।