मीनापुर में बाढ़ पीड़ितों ने काटा बवाल, एसएच पर आगजनी

आक्रोशित ग्रामीणों ने प्रखंड मुख्यालय व एसएच पर किया प्रदर्शन

मुजफ्फरपुर। मीनापुर में नगद मुआवजा से वंचित बाढ़ पीड़ितों ने मंगलवार को प्रखंड मुख्यालय पर जमकर बवाल काटा। हंगामे के कारण प्रखंड कार्यालय में अफरातफरी मच गई और कामकाज ठप हो गया। आक्रोशित लोगों ने मुजफ्फरपुर-शिवहर एसएच को जाम कर धरना पर बैठ गये। बावजूद इसके अधिकारी ने ग्रामीणों की सुध नहीं ली। इसके बाद लोगों ने एसएच पर टायर जला कर यातायात ठप कर दिया।
प्रदर्शन करने वालों में पैगम्बरपुर, चतुरसी, रानी खैरा, राघोपुर, महदेइयां, तुर्की पूर्वी, तुर्की पश्चिमी व चांदपरना पंचायत के सैकड़ों बाढ़ पीड़ित शामिल थे। बाढ़ पीड़ित प्रशासन से नकद मुआवजा के अतिरिक्त भोजन का पैकेट, फसल क्षति का मुआवजा व लंबित सामाजिक सुरक्षा पेंशन भुगतान की मांग कर रहे थे। विदित हो कि मीनापुर में नकद मुआवजा की राशि देने के लिए अंचल प्रशासन ने 81,318 परिवारों का चयन किया था। इसमें से करीब 60 हजार परिवार को नकद राशि का भुगतान हो चुका है। 21,318 परिवार को अबतक मुआवजा राशि नहीं मिलने से लोगों में आक्रोश है।
चतुरसी पंचायत के मुखिया महानंद राय ने बताया कि उनके पंचायत के बासुदेव बनुआ, दरियापुर व नकनेमा गांव के अधिकांश परिवार को मुआवजा नहीं मिला है। इससे लोग गुस्से में है। वहीं दिव्यांग संघ के प्रखंड अध्यक्ष छोटे लाल यादव, पवन कुमार, कृष्ण कुमार, बसंत कुमार, लालबचन राम, मो. वकील, शांति देवी, श्यामपति देवी, राजमा खातून, जुलेखा खातून, पिकी देवी, संगीता देवी सहित सैकड़ों लोगों ने मुआवजा भुगतान नहीं मिलने के लिए अंचल प्रशासन को जिम्मेदार बता रहे थे। करीब चार घंटे तक चले बवाल के बाद सीओ ज्ञानदीप श्रीवास्तव ने लोगों को शीघ्र राशि का भुगतान करने का आश्वासन देकर लोगों को शांत कराया।
सड़क जाम करने वालों पर एफआईआर दर्ज
प्रखंड मुख्यालय पर बवाल व सड़क जाम के मामले में देर शाम सीओ ज्ञानदीप श्रीवास्तव ने एक सौ अज्ञात प्रदर्शनकारियों पर एफआईआर दर्ज कराई है। इन लोगों पर सरकारी काम में बाधा डालने, विधि व्यावस्था को प्रभावित करने व सड़क जाम करने का आरोप लगाया गया है। सीओ ने प्रदर्शन कर रहे लोगों की वीडियो व तस्वीर पुलिस को उपलब्ध करा दी है। अब इसी साक्ष्य के आधार पर पुलिस दोषियों की पहचान करेगी।
डीएम से मिले विधायक, शीघ्र भुगतान का आश्वासन
बाढ़ पीड़ितों को नकद मुआवजा की राशि देने की मांग को लेकर मंगलवार को मीनापुर विधायक मुन्ना यादव ने डीएम धर्मेंद्र सिंह से मुलाकात की। विधायक ने डीएम को लोगों की समस्या से अवगत कराया। विधायक ने बताया कि डीएम ने सभी बाढ़ पीड़ितों को शीघ्र ही नकद मुआवजा राशि भुगतान का भरोसा दिया है।

मीनापुर में नौ करोड़ की फसल नष्ट
मीनापुर में बाढ़ से करीब नौ करोड़ रुपये की फसल नष्ट हुई है। मंगलवार को जिला योजना पदाधिकारी ने 27 पंचायत के कृषि सलाहाकार से मिली रिपोर्ट के आधार पर 9 करोड़ रुपये का फसल नुकसान होने की पुष्टि करते हुए रिपोर्ट तैयार कर जिला कृषि पदाधिकारी को भेज दी है। प्रभारी प्रखंड कृषि पदाधिकारी रविंद्र राम ने बताया कि सरकार को 9 करोड़ रुपये की डिमांड भेजी गई है। हालांकि किसानों को मिलने वाली मुआवजा राशि के लिए इस रिपोर्ट का स्वीकृत होना अभी बाकी है।