गंगा पर एक और पुल, उत्तर बिहार को मिलेगा सौगात

बिहार। राज्य सरकार ने पटना में नया बाइपास बनाने का निर्णय लिया है। साथ ही गांधी सेतु के ठीक बगल में एक फोरलेन नया पुल बनाने की कवायद तेज हो गई है। पथ निर्माण विभाग की हुई समीक्षा बैठक में उक्त दोनों निर्णय लिये गये। मुख्यमंत्री ने इसको लेकर दिशा-निर्देश भी जारी किए है। बैठक के बाद मुख्य सचिव ने बताया कि नये बाइपास की लंबाई लगभग 50 किलोमीटर होगी। इसका रूट भी तय कर लिया गया है। बाइपास (आउटर रिंग रोड) बिहटा के पास कन्हौली से शुरू होगा और नौबतपुर, लखना, दनियावां, फतुहा होते हुए कच्ची दरगाह तक आएगा।
नया पुल होगा ‘नूतन गांधी सेतु’ : मुख्य सचिव ने यह भी कहा कि गांधी सेतु के बगल में बनने वाले नये फोर-लेन पुल का डीपीआर शीघ्र केंद्र सरकार को मंजूरी के लिए भेजा जाएगा। मंजूरी मिलते ही निर्माण प्रक्रिया शुरू होगी। इसकी लागत तीन हजार करोड़ आंकी गयी है। यह पुल पटना के जीरो माइल से वैशाली के रामाशीष चौक तक होगा। यह नूतन गांधी सेतु के नाम से जाना जाएगा। पुल के लिए राज्य सरकार के पास पर्याप्त भूमि उपलब्ध है। जानकार मानतें हैं कि उत्तर बिहार के लिए यह दूसरी लाइफ लाइन होगी। नया फोर लेन पुल बन जाने से उत्तर बिहार जाने के लिए 8 लेन उपलब्ध होंगे। गांधी सेतु पर दबाव कम होगा व जाम से मुक्ति मिलेगी।