शिक्षक पर हमला, चार लोग हिरासत में

मुजफ्फरपुर। सिवाईपट्टी थाना के बासुदेव बनुआ गांव में रविवार की सुबह शिक्षक आलोक कुमार पर हुए जानलेवा हमले की सोमवार को डीएसपी पूर्वी डॉ. गौरव पांडेय ने जांच की है। हालांकि, घटना दूसरे रोज सोमवार को भी इस बाबत एफआईआर दर्ज नही हो सकी है।

डीएसपी पूर्वी डॉ. गौरव पांडेय ने सोमवार को बासुदवे बनुआ पहुंच कर लोगो से पूछताछ की और घटनास्थल का मुआइना किया है। हलांकि, इस दौरान डीएसपी ने मीडिया को कुछ भी बताने से इनकार कर दिया है। इस बीच सिवाईपट्टी पुलिस ने संदेह के आधार पर चार लोगो को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। थाना अध्यक्ष औरंगजेब आलम ने बताया कि जिन लोगो से पूछताछ की जा रही है, उनमें मीनापुर थाना के तुर्की निवासी रंजीत कुमार, पुरानी घरारी गांव के जय प्रकाश चौधरी, मीनापुर गांव के रामनाथ कुमार और मेहशी थाना के कस्वा गांव निवासी रमेश चौधरी से पुलिस पूछताछ कर रही है।
उधर, आईटी मेमोरियल में इलाज करा रहे जख्मी शिक्षक आलोक कुमार ने हमलावरो को देखने पर पहचान लेने का दावा किया है। आलोक ने बताया कि गांव की स्थानीय राजनीति के वे शिकार हो गए है। बतातें चलें कि शिक्षक बनने से पहले आलोक कुमार चतुरसी पंचायत से पंचायत समिति सदस्य के पद पर निर्वाचित हुए थे और शिक्षक के पद पर चयन होने के बाद उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। हालांकि, स्थानीय राजनीति में आज भी आलोक दबदवा रखतें हैं।
स्मरण रहें कि रविवार की सुबह करीब तीन बजे में चार बाइक पर सवार आठ हमलावरो ने आलोक पर जानलेवा हमला कर दिया था। इस दौरान बदमाशो के द्वारा चलाई गई दो गोली आलोक को लगी है। घटना के वक्त आलोक कुमार अपने दरबाजे के खुले बरामदा में सो रहे थे। घटना के बाद पुलिस ने घटनास्थल से हमलावरो का दो बाइक और खोखा भी बरामद किया था।