मीनापुर का अंचल लिपिक नशे की अवस्था में गिरफ्तार

जांज के दौरान अल्कोहल मिलने की हुई पुष्टि

बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के मीनापुर अंचल कार्यालय में शराबबंदी कानून की खुलेआम धज्जियां उड़ाने का एक सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। मामला मीनापुर अंचल कार्यालय से जुड़ा है। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि अंचल कार्यालय में पदस्थापित अंचल लिपिक सरकारी कार्यालय में बैठ कर लम्बे समय से शराबबंदी कानून की खुलेआम धज्जिया उड़ा रहा था। बुधवार को वह नशे की अवस्था में रंगेहाथो पुलिस के हथ्थे चढ़ गया।

अंचल लिपिक पुलिस हिरासत में

अंचल कार्यालय में पदस्थापित लिपिक के शराब पीने की सूचना मिलते ही पुलिस ने अंचल कार्यालय में पदस्थापित लिपिक आदित्य कुमार को हिरासत में ले लिया है। जिस वक्त वह पुलिस के हथ्थे चढ़ा, वह नशे में चूर था। थाना अध्यक्ष धनंजय कुमार ने बताया कि ब्रेथ एनालाइजर से जांच करने पर उसके शरीर में अल्कोहल मिलने की पुष्टि हो गई है। इसके बाद जमादार बिजेन्द्र प्रसाद के बयान एफआईआर दर्ज करके उत्पाद अधिनियम के तहत लिपिक आदित्य कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया। उधर, अंचलाधिकारी ज्ञान प्रकाश श्रीवास्तव ने बताया कि उन्हें इसकी सूचना मिली है। फिलाहल उच्चाधिकारी के साथ बैठक में हिस्सा लेने की वजह से वे शहर मुख्यालय में है। उन्होंने बताया कि आरोपित लिपिक पर विभागीय कारवाई के लिए गुरुवार को लिखा जायेगा।

लिपिक का है मजबूत नेटवर्क

मीनापुर अंचल लिपिक के नशे की अवस्था में गिरफ्तार होते ही लोग कई तरह की चर्चा करने लगे। अंचल मुख्यालय में मौजूद कई लोगो ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि उक्त लिपिक अक्सर सरकारी कार्यालय में बैठ कर शराब पीता था और इसके लिए यहां उसने अपना मजबूत नेटवर्क खड़ा कर लिया था, जो उसको शराब की आपूर्ति करता था। लोगो ने बताया कि नशे की अवस्था में उक्त लिपिक अक्सर अंचल कार्यालय में काम से आने वालो के साथ दुर्व्यवहार भी करता था। फिलहाल, यह घटना इलाके में चर्चा का विषय बन गया है।

मीनापुर में तीन साल से था पदस्थापित

मीनापुर अंचल कार्यालय से शराब के नशे में रंगेथाथो गिरफ्तार होने वाला अंचल लिपिक आदित्य कुमार पिछले तीन वर्षो से मीनापुर अंचल में लिपिक के पद पर पदस्थापित है। इससे पहले वह कुढ़नी अंचल में लिपिक हुआ करता था। मुजफ्फरपुर के बालूघाट का रहने वाला आदित्य लम्बे समय से नशे की गिरफ्त में था। जांच के दौरान पुलिस को कई चौकाने वाली जानकारी हाथ लगी है। लोगो ने पुलिस को बताया कि शराब नहीं मिलने पर आदित्य समीप से ताड़ी मंगा कर समीप के सरकारी बगिचे में बैठ कर पीता था। इस काम में उसके कार्यालय के एक और कर्मी का सहयोग उसे मिलता था। हालांकि, बुधवार को आदित्य अकेले शराब पी रहा था और पकड़ा गया।

अचेत अवस्था में पुलिस ने दबोचा

नशे में अचेत पड़़ा़ अंचल लिपिक

लोगो के द्वारा मिली सूचना के बाद मौके पर पहुंचे जमादार बिजेन्द्र प्रसाद को देखते ही आदित्य नखरा करने लगा और फर्स पर ही अचेत होकर लेट गया। इसके बाद पुलिस ने स्थानीय लोगो की मदद से आदित्य को टांग कर पुलिस जीप में बिठाया और मीनापुर थाना लेकर पहुंचे। थाना पर ब्रेथ एनालाइजर से जांच करने पर आदित्य के शरीर में अल्कोहल होने की पुष्टि हो गई। इसके बाद आदित्य को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस उसके होश में आने का इंतजार कर रही है। इसके बाद कड़ाई से उसकी पूछताछ होनी है।

सरकारी पत्र बरामद

थाना अध्यक्ष धनंजय कुमार ने बताया कि आदित्य के पास से कुछ सरकारी पत्र और सरकारी फाइलें बरामद हुई है। हालांकि, शराब का बोतल या अन्य कोई आपत्तिजनक वस्तु मौके से नहीं मिला है। लोगो ने बताया कि आदित्य अक्सर शराब पीने के बाद बोतल को कैम्पस के बाहर फेक देता था। लोगो की माने तो कार्यालय में काम से आये लोगो के साथ अंचल लिपिक नशे की अवस्था में पहले भी कई बार दुव्यवहार कर चुका है।