अलीगढ़ में मासूम की निर्मम हत्या, गुस्से में पूरा देश

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में दो साल की मासूम के साथ जो कुछ भी हुआ, इससे मानवता एक बार फिर से शर्मसार हो गई है। यह बात समझ से परे है कि किसी मासूम के साथ कोई इतनी हैवानियत कैसे कर सकता है? मासूम की पोस्टमार्टम रिपोर्ट पढ़ने के बाद रोंगटें खड़े हो जाते हैं। दरिंदगी की इंतहा की गई। पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टर भी हैरान है।

मासूम से हैवानियत की इंतिहां

पोस्टमार्टम रिपोर्ट से खुलाशा हुआ कि दरिंदो ने मासूम को इस कदर मारा कि उसकी नाक व माथे को जोड़ने वाली हड्डी और एक पैर में फ्रेक्चर तक हो गया। जब इससे भी संतोष नहीं हुआ तो उसके बांह को शरीर से उखाड़ दिया गया। आखिरकार दर्द से तड़प रही मासूम ने दम तोड़ दिया। हद देखिए, बात के बात में कैंडिल मार्च लेकर सड़को पर प्रदर्शन करने वाले तथकथित बुद्धिजीवी गैंग और मीडिया का एक बड़ा वर्ग इस घटना पर चुप है।

लापता थी मासूम

घटना यूपी के अलीगढ़ के टप्पल थाना क्षेत्र के मोहल्ला कानून गोयान की है। यहां की एक ढ़ाई साल की मासूम गुड़िया कुमारी (काल्पनिक नाम) 30 मई को लापता हो गई थी और दो जून की सुबह घर के समीप ही कूड़े के एक ढेर से उसका शव मिला था। शर्मनाक बात ये कि शव को कुछ कुत्ता नोच रहा था। तभी स्थानीय लोगो की उस पर नजर पड़ी।

जांच के लिए एसआईटी बनाई गई

मासूम का शव बरामद होते ही पोस्टमार्टम के लिए तीन डॉक्टरों का पैनल बनाया गया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार मरने के बाद शरीर में जो बदलाव होता हैं। उसके बारे में एंटीमार्टम इंजरी में डॉक्टरों ने विस्तार से लिखा है। रिपोर्ट के हवाले से कहा कि बच्ची के हाथ और पैर टूटे थे। शरीर की कई अन्य हड्डियां भी टूटी हैं। हालांकि, आंख में तेजाब नहीं डाली गई थी जैसा कि परिवार के लोग दावा कर रहा है। बच्ची के साथ दुष्कर्म की भी पुष्टि नहीं हुई है। इस बीच पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ पोक्सो कानून के तहत मामला दर्ज किया गया है।

सदमे से तोड़ दिया दम

रिपोर्ट में सबसे चौंकाने वाली बात यह है कि बच्ची की किडनी व यूरिनली ब्लेडर नहीं पाया गया। बच्ची का हाथ धड़ से अलग था। इसकी वजह से उस जगह पर कीड़े पड़ चुके थे। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में डॉक्टरों ने तीन से चार दिन पूर्व हत्या होने की संभावना जताई है। यानि बच्ची की हत्या 30 मई को लापता होने के बाद ही कर दी गई थी। इस वजह से शव सड़ चुका था। जगह-जगह कीड़े पड़ चुके थे। दूसरी सबसे बड़ी बात रिपोर्ट में कहा गया है कि मासूम की मौत शॉक यानि सदमे की वजह से हुई है।