मीनापुर में किसान की गोली मारकर हत्या

एक स्पताह के भीतर तीन हत्या, बैकफुट पर पुलिस

KKN न्यूज ब्यूरो। बिहार के मुजफ्फरपुर जिला अन्तर्गत मीनापुर थाना क्षेत्र में हत्या का दौर थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। बाइक सवार अपराधियों ने बीते चार रोज में तीन लोगो को गोली मार कर हत्या करके इलाके में हड़कंप मचा दिया है। 29 जून को डुमरबाना के सीमेंट कारोबारी राजा राय के हत्या की गुथ्थी अभी सुलझी भी नहीं थीं कि अपराधियों ने 1 जुलाई की सुबह तुर्की के चिमनी कारोबारी अजय कुमार को गोली मार कर हत्या कर दी और अब 2 जुलाई को खरहर गांव के किसान दीपनारायण की गोली मार कर हत्या कर देने से इलाके में दहशत कायम हो गया है।

एनएच 77 पर किसान को मारी गोली

वारदात मंगलवार दोपहर की है। एनएच-77 पर मुकसूदपुर चिमनी के समीप बाइक सवार नकाबपोश तीन अपराधियों ने दीपनारायण को करीब से गोली मार कर मौत के नींद सुला दिया है। दीपनारायण तीन अन्य लोगों के साथ खुद के बाइक से शहर जा रहे थे। मुकसूदपुर के समीप पहुंचते ही अपराधियों ने दीप नारायण प्रसाद पर ताबड़तोड़ गोलियां चलाई। इसमें दीपनारायण प्रसाद की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं उनके साथ जा रहे ग्रामीण शत्रुघ्न सहनी व राजा शर्मा बाइक से गिरने की वजह से जख्मी हो गए। दोनों का इलाज एसकेएमसीएच में चल रहा है। मीनापुर में बीते चार दिन में दो कारोबारी समेत तीन की गोली मारकर हत्या कर दी गई है।

चार लोगो पर एफआईआर दर्ज

इधर, एसएसपी मनोज कुमार ने बताया कि किसान की हत्या में चार लोगों के खिलाफ एफआईआर करायी गई है। हत्या का कारण जमीन विवाद बताया जा रहा है। पुलिस ने चार लोगों को हिरासत में भी लिया है। उनसे पूछताछ की जा रही है। वहीं घटना से गुस्साए लोगों ने करीब एक घंटे तक एनएच 77 को गांव में जाम कर दिया। हालांकि, डीएसपी पूर्वी गौरव पांडेय के समझाने पर शांत हो गए और जाम समाप्त हो गया। इसके बाद मीनापुर पुलिस लाश को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए एसकेएमसीएच ले गई।

ओवरटेक कर अपराधियों ने मारी गोली

मंगलवार की दोपहर करीब दो बजे दीप नारायण अपने ग्रामीण राजा शर्मा व कोइली के शत्रुघ्न सहनी के साथ बाइक से मुजफ्फरपुर शहर की ओर जा रहे थे। मुकसूदपुर स्थित एक चिमनी के समीप एक बाइक सवार तीन अपराधियों ने दीप नारायण की बाइक को ओवरटेक कर रोका और बाइक चला रहे दीप नारायण को बगैर कुछ कहे सामने से गोली चला दी। पहली गोली किसान की कनपट्टी में लगी और बाइक के साथ गिर गए साथ ही उनके साथ बाइक पर सवार उनके दो ग्रामीण भी गिर गए। सड़क पर गिरने के बाद अपराधियों ने किसान पर दो राउंड और फायर कर दी। इसमें एक गोली किसान के सिर में लगी और उनकी मौके पर ही मौत हो गई।

हत्या से पूर्व ऑटो से हुई थी टक्कर

गोली लगने के बाद दीपनारायण का संतुलन बिगड़ गया और उनका बाइक सामने से आ रहे एक ऑटो से टकरा गई। हालांकि, परिजन अब आशंका जता रहे हैं कि ऑटोरिक्सा की टक्कर कही आरोपितों की साजिश तो नहीं थी? फिलहाल पुलिस इस एंगल से भी जांच में जुटी है। प्रत्यक्षदर्शी राजा शर्मा ने बताया कि हमलावार तीन युवक एक बाइक पर सवार थे। सभी का मुंह गमछा से ढ़का हुआ था। बाइक पर पीछे बैठा युवक ने सबसे पहले गोली चलाई और बाद में दूसरे ने भी फायर कर दिया।

भाई से दो हजार लेकर निकले थे घर से

मृतक के छोटे भाई पुनीत प्रसाद ने बताया कि घटना के वक्त वह घर पर ही थे और खेत में काम कर रहे थे। शहर जाने से पहले दीपनारायण ने अपने छोटे भाई से दो हजार रुपये लिए और इसके बाद घर से निकल गए। करीब 15 मिनट बाद ही दीपनारायण को गोली लगने की खबर आ गई। घटना की सूचना पर एसकेएससीएच पहुंचे मृतक की सास निर्मला देवी व पुत्र शेखर सुमन समेत अन्य सभी परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल था। परिजन घटना के संबंध में कुछ भी बताने की हालत में नहीं थे।

पहले भी हो चुका था जानलेवा हमला

मृतक के भाई पुनीत ने बताया कि उनका गांव में कुछ लोगों के साथ जमीन विवाद वर्ष 2005 से ही चल रहा है। इस बीच कई बार दोनो गुटो के बीच हिंसक झड़प हो चुकी है। वर्ष 2012 में भी दीप नारायण को गोली लगी थी। हालांकि, तब वह बच गए थे। जानकार बतातें हैं कि घटना का तार शराब के कारोबार से भी जुड़ा हो सकता है। दीपनरायण ने पिछले सप्ताह ही शराब बेचने के एक आरोपित को गिरफ्तार करने में पुलिस की मदद की थी।