खतरा: बिहार सहित कई राज्यों में मौजूद है एके-47 रायफल का जखिरा

बिहार सहित कई राज्यों में मौजूद है एके-47 रायफल का जखिरा

बिहार सहित कई अन्य राज्यों के अपराधी व नक्सलियों के पास इस वक्त कम से कम 63 एके 47 रायफल मौजूद है। स्वयं हथियर तस्करो ने इसका खुलाशा किया है। बतातें चलें कि पुलिस ने बिहार के मुंगेर से इमरान और मध्यप्रदेश से रिटायर आर्मोरर पुरुषोत्तम को गिरफ्तार किया है। पुलिस के द्वारा की गई पूछताछ में यह चौकाने वाला खुलाशा सामने आया है। दोनो हथियार तस्कर ने पुलिस को बताया कि उसने अभी तक 63 एके 47 राइफलें खपाई हैं।

वर्षो से चल रहा था खेल

बताया जा रहा है कि यह खेल कई वर्षों से चल रहा था। दोनों ने न सिर्फ बिहार, बल्कि दूसरे राज्यों में भी इस अत्याधुनिक असलहे की सप्लाई की है। इस खुलासे के बाद पुलिस ने हथियार खरीदने वालों का पता लगाने में जुट गई है। बहरहाल, मुंगेर पुलिस जबलपुर पुलिस के इनपुट का इंतजार कर रही है। इस बीच पुलिस ने बुधवार को एक बार फिर इमरान के बरदह स्थित घर पर छापेमारी की।

सेना के इस्तेमान का है हथियार

बिहार के मुंगेर में पकड़ी गई तीन एके 47 कोई साधारण राइफल नहीं है। बल्कि, ये हथियार सेना द्वारा इस्तेमाल किए गए हैं। खराब होने पर सेना ने इसे आर्डिनेंस डिपो में भेजा था, जहां से इसकी चोरी की गई। जांच में पता चला है कि तस्कर पार्ट्स को जोड़कर एके 47 को चालू कर देते है और इसे बेच कर मोटी कमाई करते रहें है। पुरुषोत्तम इन हथियारों को इमरान के पास भेजता था और फिर ग्राहक खोजे जाते थे।

साढ़े पांच लाख में बेची जाती थी रायफल

बिहार पुलिस के अधिकारी बतातें हैं कि इमरान तक हथियार 4.5 लाख रुपए में पहुंचता था। इसके बाद हथियार किसे और कहां बेचना है, यह इमरान तय करता था। पूछताछ में वह पुलिस को पता चला है कि इमरान एक लाख रुपए का मुनाफा लेकर 5.5 लाख रुपये में हथियार बेच देता था। सूत्रों के मुताबिक यह हथियार नक्सली या संगठित आपराधिक गिरोह के द्वारा खरीद की जाती थी।

खबरो की खबर के लिए पेज फॉलो कर लें, शेयर कर लें और अपना कमेंट जरुर दें।