अपनी जुती और अपना सिर…

नॉर्थ कोरिया ने अपने ही शहर पर दाग दी मिसाइल

उत्तर कोरिया। लगातार अपनी मिसाइल का परीक्षण कर पूरी दुनिया में हड़कंप मचाने वाले उत्तरी कोरिया के सनकी तानाशाह किम जॉन उन ने अपने ही देश के एक शहर को निशाना बना दिया। राजधानी प्योंगयोंग से करीब 90 मील दूल टोकचोन शहर में जैसे ही मिसाइल से हमला हुआ, पूरा दुनिया स्तब्ध रह गया। हालांकि, यह हमला गलती से हो गया, बताया जा रहा है।

अमेरिकी अधिकारियों के मुताबिक ह्वासोंग-12 नाम की यह अंतर महाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल के बारे में शुरूआत में यह समझा गया कि वह फटकर बेकार हो गई थी। लेकिन, जो नए तथ्य सामने आ रहे हैं उसके मुताबिक वह मिसाइल उत्तर कोरिया की राजधानी प्योंगयोंग से करीब 90 मील दूल टोकचोन शहर के ऊपर जाकर गिरी है। टोकचोन शहर की कुल आबादी करीब दो लाख से ज्यादा है। हालांकि, इससे जान माल को कितना नुकसान हुआ? इसका खुलाशा होना अभी बाकी है।
अमेरिकी खुफिया सूत्रों और सैटेलाइट तस्वीर के हवाले से जो खबर आई है, उसके मुताबिक इस शहर के ऊपर मिसाइल के फटने से इंडस्ट्रियल और एग्रीकल्चरल बिल्डिंग्स को काफी नुकसान हुआ है। रिपोर्ट में कहा गया है कि पुकचांग हवाई क्षेत्र से इस मिसाइल को छोड़े जाने के बाद ये उत्तर-पूरब की दिशा में 24 मील तक गयी। उसके बाद यह 43 मील से ज्यादा नहीं नहीं जा पायी। अमेरिकी सरकार के सूत्र ने बताया कि इस मिसाइल के छोड़े जाने के बाद पहले ही चरण में इसका इंजन फेल हो गया।
ऐसा माना जा रहा है कि इस मिसाइल के गिरने के बाद उसमें से निकले लिक्विड के चलते बड़ा धमका हुआ है। मिसाइल परीक्षण के बाद गूगल अर्थ की तरफ से ली गई तस्वीर से यह साफ पता चलता है कि जिस जगह पर ये मिसाइल गिरी वह जगह साफ है जहां ऐसा माना जा रहा है कि पहले एक बिल्डिंग थी। इसके साथ ही एक ग्रीन हाउस को भी क्षति पहुंची है। कहा यह भी जा रहा है कि अगर ये मिसाइल गजती से जापान में गिरी होती तो इसकी प्रतिक्रिया में टोक्यो से हमला किया जा सकता था।