उत्कल हादसा में शिकंजा कसा, चार अधिकारी लपेटे में

मुजफ्फरपुर नगर। उत्कल कलिंगा एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त मामले में दोषी को चिन्हित करके रेलवे ने कार्रवाई आरंभ कर दी है। आरंभ में चार अफसरों को सस्पेंड कर दिया है। कर्मचारियों पर गैर इरादतन हत्या की एफआईआर दर्ज हुई है। इसके अतिरिक्त रेलवे बोर्ड के सदस्य इंजीनियरिंग एवं जीएम उत्तर रेलवे और डीआरएम दिल्ली को जबरन अवकाश पर भेज दिया गया हैं।
रेलवे अधिकारी ट्रैक की मरम्मत होने से इनकार कर रहें हैं। दूसरी ओर मौके पर मिले उपकरण और चश्मदीदों के मुताबिक बगैर सावधानी के ट्रैक की मरम्मती का काम चलने की बात सामने आ रही है। स्मरण रहे कि शनिवार शाम उरी से हरिद्वार जा रही उत्कल एक्सप्रेस खतौली में हादसे का शिकार हो गई थी। इसके 12 बोगियां दुर्घटनाग्रस्त हुई थीं। तड़के चार और शव निकाले गए हैं। इसी के साथ मृतको की संख्या 24 हो गई है। इस हादसे में 97 लोगो के जख्मी होने की पुष्टि की गई है।
मुजफ्फरनगर और मेरठ के अस्पतालों में सभी घायलों का इलाज चल रहा है। दिल्ली-देहरादून ट्रैक अब भी बाधित है। इस रूट की ट्रेनों को फिलहाल या तो रद्द कर दिया गया है कि या उनको दूसरे रूट से गुजारा जा रहा है। हादसे में मारे गए 20 लोगों की पहचान हो गई है।