सीडब्ल्यूसी में राहुल के इस्तीफा की पेशकश नामंजूर

लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद कॉग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के इस्तीफा को लेकर चल रही हाई वोल्टेज ड्रामा का पटाक्षेप हो गया है। करीब साढ़े तीन घंटा तक चली सीडब्लूसी की बैठक में राहुल गांधी के इस्तेफा की पेशकश को नामंजूर कर दिया गया है। कांग्रेस प्रवक्ता सुरजेवाला ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसकी पुष्टि की है। सुरजेवाला ने कहा कि राहुल गांधी ने इस्तेफा की पेशकश की थी। किंतु, सीडब्लूसी ने सर्व सम्मति से इसको नामंजूर करते हुए पार्टी में बड़े बदलाव के लिए राहुल गांधी को अधीकृत कर दिया है।

हुल के नेतृत्व और मार्गदर्शन की जरूरत

लोकसभा चुनाव में मिली हार के बाद शनिवार को कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक हुई। पार्टी के प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने बताया, राहुल गांधी ने हार की जिम्मेदारी लेते हुए अध्यक्ष पद से इस्तीफे की पेशकश की। कार्यकारिणी के सदस्यों ने इसे नामंजूर कर दिया। कांग्रेस कार्यसमिति ने कहा- पार्टी को राहुल के नेतृत्व और मार्गदर्शन की जरूरत है। बैठक में सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह, गुलाम नबी आजाद और प्रियंका गांधी वाड्रा समेत कई नेता मौजूद रहे।

हार की हुई समीक्षा

कांग्रेस ने लगातार अपना प्रदर्शन नहीं सुधार पाई। वर्ष 2014 में कांग्रेस ने 44 सीटें जीती थीं, इस बार पार्टी को आठ सीटों का फायदा हुआ। माना जा रहा कि बैठक में पार्टी को लोकसभा चुनाव में मिली हार पर चर्चा हुई। खासकर मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में, जहां पार्टी ने पांच महीने पहले ही विधानसभा चुनाव जीते थे। इसके अलावा कर्नाटक विधानसभा चुनाव में हुई हार पर भी मंथन हुआ। यहां कांग्रेस सत्ता में थी।