सोनपुर: झुका प्रशासन, लगेंगे ठुमके

दुकानदारों व नर्तकियो के आंदोलन के बाद जिला प्रशासन का बड़ा फैसला. स्थानिय सांसद ने किया हस्तक्षेप, थियेटर के बाहर आपत्तिजनक पोस्टर लगाने पर रोक

संतोष कुमार गुप्ता

सोनपुर: एशिया का सुप्रसिद्ध सोनपुर मेला ही नही हजारो दुकानदारों व संगितप्रेमियो के लिए अच्छी खबर है। नर्तकियो व दुकानदारो के आंदोलन के आगे जिला प्रशासन को झुकना पड़ा है। जिला प्रशासन ने सशर्त थियेटर चलाने की सहमती दे दी है।आज शुक्रवार से सोनपुर मेला बालाओ के ठुमके से गुलजार रहेंगे।  सोनपुर मेले में थिएटर के लिए लाइसेंस देने को सारण जिला प्रशासन राजी हो गया है। इसे लेकर आठ दिनों से चली आ रही तनातनी गुरुवार को समाप्त हो गई।  हालांकि लाइसेंस देने की हामी प्रशासन ने दिनभर की मेलाबंदी के बाद शाम को भरी।  सशर्त लाइसेंस देने का फैसला किया गया है।
पूर्व केंद्रीय मंत्री और स्थानीय सांसद राजीव प्रताप रूडी की पहल पर गुरुवार की शाम जिला प्रशासन ने स्थानीय लोगों के प्रतिनिधियों व व्यवसायियों के साथ लंबी बैठक के बाद लाइसेंस जारी करने को लेकर सहमति दे दी। सारण के एसपी हरिकिशोर राय ने बताया कि थिएटर संचालकों को इस शर्त पर लाइसेंस जारी किए जाएंगे कि किसी भी हाल में अश्लीलता न हो। इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।
साथ ही संचालकों को निर्देश दिया गया है कि वे इसका प्रचार-प्रसार नहीं करेंगे। रात दस बजे के बाद ध्वनि प्रदूषण के नियमों के तहत किसी भी हाल में थिएटर के बाहर आवाज नहीं जाने का सख्त निर्देश दिया गया है। दिनभर मेला बंद होने के सवाल पर एसपी ने कहा कि उन्होंने बंद नहीं कराया था।
मालूम हो कि थिएटरों को लाइसेंस जारी करने को लेकर बीते मंगलवार को नर्तकियों ने जमकर हंगामा मचाया था। मामले में सात नर्तकियों समेत दस लोगों को गिरफ्तार कर पुलिस ने बुधवार को जेल भेज दिया था। इसके विरोध में गुरुवार को पूरे दिन मेला बंद रहा।