योगी सरकार मुस्लिम कन्याओ की शिक्षा पर मेहरबान

पूजा श्रीवास्तव
उत्तर प्रदेश। यूपी की योगी सरकार ने मुस्लिम कन्याओं के शिक्षा पर 250 करोड़ रुपये की अतिरिक्त धन राशि खर्च करने का निर्णय लिया है। बतातें चलें कि केंद्र सरकार द्वारा हज के लिए दी जाने वाली 700 करोड़ रुपये की सब्सिडी समाप्त किये जाने के बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने अपने हिस्से की सब्सिडी को मुस्लिम कन्याओं के शिक्षा पर व्यय करने का निर्णय लेने वाला देश का पहला राज्य बन गया है।

इस राशि से मदरसे से लेकर परास्नातक तक शिक्षा पा रहीं मुस्लिम छात्राओं को वजीफा एवं उच्च शिक्षा के लिए मेडिकल एवं इंजीनियरिंग कॉलेजों में प्रवेश का खर्च भी मुहैया कराया जायेगा। राज्य सरकार ने इसके अलावा प्रदेश में अल्पसंख्यक कल्याण के लिए जारी अन्य योजनाओं में अधिक से अधिक लोगो को लाभ पहुंचाने के लिये मानकों में भी रियायत देने का प्रस्ताव केंद्र सरकार के समक्ष रखा है, जिसे केन्द्र की स्वीकृति भी मिल गई है।
यूपी सरकार ने दावा किया है कि प्रदेश में अब तक पिछड़ती चली आ रही इस अल्पसंख्यक आबादी का जीवन स्तर ऊपर उठाना है, जिसके लिए बेटियों को शिक्षित करना सबसे सही और सटीक उपाय है। क्योंकि, बेटियां पढ़ेंगी तो वे सबको शिक्षित करेंगी। इसके अतिरिक्त अल्पसंख्यक बाहुल्य इलाकों में कुटीर उद्योगों की स्थापना होनी है और तकनीकी प्रशिक्षण के लिये कौशल विकास योजनाओं में शामिल किया जायेगा तथा आसान ऋण सुविधा भी उपलब्ध करायी जायेगी।