Economy

बिहार में 2 लाख 11 हजार 761 करोड़ का बजट पेश

किसानों को खुश करने की कोशिश

KKN लाइव न्यूज ब्यूरो। बिहार विधानसभा में डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने वित्तीय वर्ष 2020-21 का बजट पेश कर दिया है। यह करीब 2 लाख 11 हजार 761 करोड़ रुपये की बजट है। बिहार की सरकार ने इस बजट में 62 लाख से अधिक किसानों को राहत देने की कोशिश की है। बजट पेश करते हुए डिप्टी सीएम और वित्तमंत्री सुशील मोदी ने कहा कि बिहार में शिक्षा पर सबसे ज्यादा खर्च किया जाएगा। इस बजट के लिए आम लोगों से भी राय ली गई थीं।

बिहार में विकास दर 15 प्रतिशत पहुंचा

वित्तमंत्री मोदी ने कहा कि जहां पूरी दुनिया मंदी के दौरा से गुजर रही है और इसका असर भारत पर भी पड़ने की आशंका है। इसके बावजूद बिहार ने 2019-20 में 15.01 विकास दर हासिल किया है और यह अपने आप में एक बड़ी उपलब्धी है। कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर बिहार में प्रति व्यक्ति आय में इजाफा हुआ है। वित्तमंत्री ने 31 मार्च तक हर घर नल जल योजना को पहुंचाने और 1 लाख 36 हजार किसानों को सस्ती बिजली देने का वादा किया है।

बजट की कुछ मुख्य बातें

बिहार में बनेगा 8,074 चेक डैम। स्वास्थ्य पर 1937 करोड़ रुपये होंगे खर्च। वर्ष 2020-21 में शिक्षा पर 35 हजार करोड़ खर्च करने की है योजना। स्वास्थ्य पर 1,937 करोड़ रुपये खर्च करने का है प्रावधान है। बिहार के 12 जिलों में जैविक खेती की योजना है। इसी प्रकार वर्ष 2021-22 तक ग्रिड सब-स्टेशनों की कुल संख्या बढ़कर 169 और संचरण लाइन की कुल लम्बाई 20,324 सर्किट किलोमीटर हो जायेंगे। विज्ञान एवं प्रावधिकी विभाग के द्वारा सूबे की 10 अभियंत्रण महाविद्यालयों के परिसर में 336.00 करोड़ की लागत से 12 लड़का एवं 9 लड़की का छात्रावास बनाया जायेगा और 12 राजकीय पॉलिटेक्निक संस्थानों के परिसर में 520.14 करोड़ की लागत से 18 लड़का व 16 लड़की छात्रावासों का निर्माण कराया जायेगा। स्वास्थ्य विभाग के द्वारा इन्दिरा गाँधी आयुर्विज्ञान संस्थान, शेखपुरा, पटना को सुपर स्पेशिलिटी अस्पताल के रूप में विकसित करने के लिए शैय्याओं की संख्या 1,032 से बढ़ाकर 2,732 की जायेगी। इसी प्रकार 500 शैय्या के निर्माणाधीन अस्पताल के अतिरिक्त 513.21 करोड़ की लागत से 1,200 बेड के नये अस्पताल भवन का निर्माण किया जायेगा। लगभग 172.95 करोड़ रुपये की लागत से 9 जिला अस्पतालों का अन्नयन होना है। इसमें आरा, अररिया, वैशाली, औरंगाबाद, बांका, पूर्वी चम्पारण, सीतामढ़ी, मधुबनी एवं सहरसा का मॉडल अस्पताल के रूप में उन्नयन किया जायेगा। वर्ष 2020-21 में 12 जिला अस्पतालों का उन्नयन होना है। इसमें बेगूसराय, भागलपुर, गया, गोपालगंज, मधेपुरा, मुजफ्फरपुर, मुंगेर, नालन्दा, पटना, रोहतास, समस्तीपुर एवं सिवान के जिला अस्पताल का उन्नयन किया जाएगा।

This post was published on फ़रवरी 25, 2020 19:33

KKN लाइव टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है, खबरों की खबर के लिए यहां क्लिक करके आप हमारे चैनल को सब्सक्राइब कर सकते हैं।

Show comments
Published by
KKN न्‍यूज ब्यूरो

Recent Posts

  • Videos

स्वामी विवेकानन्द का नाइन इलेवन से क्या है रिश्ता

ग्यारह सितम्बर... जिसको आधुनिक भाषा में  नाइन इलेवन कहा जाता है। इस शब्द को सुनते… Read More

जुलाई 3, 2022
  • Videos

एक योद्धा जो भारत के लिए लड़ा और भारत के खिलाफ भी

एक सिपाही, जो गुलाम भारत में अंग्रेजों के लिए लड़ा। आजाद भारत में भारत के… Read More

जून 19, 2022
  • Bihar

सेना के अग्निपथ योजना को लेकर क्यों मचा है बवाल

विरोध के लिए संपत्ति को जलाना उचित है KKN न्यूज ब्यूरो। भारत सरकार के अग्निपथ… Read More

जून 18, 2022
  • Videos

कुदरत की रोचक और हैरान करने वाली जानकारी

प्रकृति में इतनी रोमांचक और हैरान कर देने वाली चीजें मौजूद हैं कि उन्हें देख… Read More

जून 15, 2022
  • Society

भाषा की समृद्धि से होता है सभ्यता का निर्माण

भाषा...एक विज्ञान है। यह अत्यंत ही रोचक है। दुनिया में जितनी भी भाषाएं हैं। सभी… Read More

जून 7, 2022
  • Videos

सात राज्यों में माननीय के वेतन का इनकम टैक्स भी सरकारी खजाने से क्यों

आजादी के बाद भारत की राजनीति गरीब और गरीबी के इर्द- गिर्द घूमती रही है।… Read More

जून 5, 2022